10 अगस्त को बंद रहेंगे पूरे हरियाणा में डाक घर, जानें क्या है वजह

Edited By Gourav Chouhan, Updated: 02 Aug, 2022 06:41 PM

post offices across haryana will remain closed on august 10

4 अगस्त को 20 सूत्रीय मांगों को लेकर जनता को सरकार की नीतियों से अवगत कराने के लिए पोस्ट मास्टर जनरल हरियाणा परिमंडल के कार्यालय पर सुबह 10 से दोपहर 1 बजे तक धरना दिया जाएगा।

अंबाला(अमन): हरियाणा में 10 अगस्त को प्रदेशभर में डाक कार्यालय में काम नहीं होगा, क्योंकि इस दिन डाक विभाग हरियाणा सर्कल के सभी कर्मचारी सांकेतिक हड़ताल करेंगे। इससे पहले 4 अगस्त को 20 सूत्रीय मांगों को लेकर जनता को सरकार की नीतियों से अवगत कराने के लिए पोस्ट मास्टर जनरल हरियाणा परिमंडल के कार्यालय पर सुबह 10 से दोपहर 1 बजे तक धरना दिया जाएगा। डाक विभाग के कर्मचारियों ने सरकार द्वारा डाकघर की सभी छोटी बचत योजनाओं को इंडियन पोस्ट पेमेंट बैंक लिमिटेड को सौंपने के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

 

कर्मचारियों का आरोप डाकघर की योजनाएं IPPB को सौंपना चाहती है सरकार

 

नेशनल फेडरेशन ऑफ पोस्टल एम्पलाइज हरियाणा सर्कल के सचिव नरेश कुमार ने बताया कि सरकार डाकघर की सभी छोटी बचत योजनाओं को इंडियन पोस्ट पेमेंट बैंक लिमिटेड को सौंपने जा रही है। जबकि इस बैंक की स्थापना 1 अक्टूबर 2018 को हुई थी। मात्र 3 सालों में ही इस बैंक का घाटा बढ़कर 31 मार्च 2021 की बैलेंस शीट में 821 करोड़ रूपए हो गया है। बैंक डाक विभाग की बिल्डिंग में है तथा बिजली पानी, और ज्यादातर कर्मचारी भी डाक विभाग के हैं। जबकि इंडियन पोस्ट पेमेंट बैंक लिमिटेड का अपना स्टाफ 20 फीसदी से भी कम है। नरेश कुमार ने बताया कि शुरुआत में यह बैंक अपने ग्राहकों को 4 फ़ीसदी ब्याज दर प्रदान कर रहा था, जो कि वर्तमान में घटकर एक लाख की राशि पर 2 फीसदी तथा एक लाख से अधिक की राशि पर 2.25 फीसदी रह गई है। उन्होंने चिंता जाहिर करते हुए कहा कि यह जनता की छोटी छोटी बचत द्वारा कमाई गई राशि आईपीपीबी को सौंपने पर डाक की छोटी बचत योजनाओं का क्या हश्र होगा, यह सभी जानते हैं। डाक विभाग की छोटी बचत योजनाओं के द्वारा देश भर से लगभग 30 करोड ग्राहक और उन जनता का 10 लाख करोड़ रूपया इन स्कीमों में जमा है। डाक विभाग अपनी बचत योजनाओं पर 4% ब्याज दर बिना किसी अधिकतम राशि की सीमा के जनता को प्रदान कर रहा है। इसके अलावा इंडियन पोस्ट पेमेंट बैंक ने अपनी सभी सुविधाओं पर अतिरिक्त सर्विस चार्ज लगा रखा है। उन्होंने कहा कि आरबीआई नियम के अनुसार इंडियन पोस्ट पेमेंट बैंक के दिवालिया होने पर प्रति ग्राहक अधिकतम पांच लाख की राशि की अदा करेगा, जबकि डाक विभाग जनता का सभी पैसा पूरी तरह वापस करने के लिए तत्पर रहता है। जनता की भलाई और अपने कर्मचारियों के भविष्य को देखते हुए नेशनल फेडरेशन ऑफ पोस्टल एम्पलाइज हरियाणा सर्कल ने 10 अगस्त को अपनी 20 सूत्रीय मांगों के समर्थन में 1 दिन की हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया है।

 

1984 से चल रही डाक विभाग की योजनाएं, लोगों का बना हुआ है विश्वास

 

कर्मचारी नेताओं का कहना है कि डाक विभाग की आय का हिस्सा इन्हीं स्कीम से प्राप्त होता है। इंडियन पोस्ट पेमेंट बैंक लिमिटेड का पहले ही बजाज एलाइंस इंश्योरेंस कंपनी से उनकी पार्टी बेचने का करार हो गया है, जबकि दोनों की स्कीमों और पॉलिसी में विरोधाभास नहीं है। इनकी अन्य स्कीमों में डाक जीवन बीमा डाक मेल से प्राप्त होता है। इसी तरह विभाग व सरकार ने अपनी दूसरी वित्तीय सेवा डाक जीवन बीमा को भी इस बैंक को सौंपने का मन बना रखा है, जो सरासर गलत है। डाक विभाग साल 1984 से अपनी योजनाएं चला रहा है और जनता का विश्वास भी बना हुआ है। नरेश कुमार ने बताया कि सरकार ने बीएसएनएल को 3G व 4G भी पूरी तरीके से नहीं चलाने दिया, जबकि प्राइवेट कंपनियों को चोर दरवाजे से 5G चलाने का लाइसेंस भी दे दिया है। उनका कहना है यदि सरकार ने उनकी मांगों पर तुरंत ध्यान नहीं दिया तो उनकी दोनों बॉडी मिलकर अनिश्चित काल हड़ताल का फैसला भी ले सकती हैं।

 

 (हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भीबस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!