जल्द ही लाल डोरा मुक्त होगा पंचकूला- उपायुक्त महावीर कौशिक

Edited By Vivek Rai, Updated: 03 Jul, 2022 09:47 PM

panchkula will be free from lal dora soon  dc mahavir kaushik

पंचकूला जिला प्रशासन के अथक प्रयासों के चलते जल्द अब पंचकूला लाल डोरा मुक्त होने के बेहद नजदीक है। जिले के 143 गांवो का फाइनल मैच, सर्वे ऑफ इंडिया से मिल जाने के बाद अब प्रशासन कुछ प्रॉपर्टी कार्ड ना बनने का कारण बनी त्रुटियों और विवादों को समाप्त...

चंडीगढ़(चंद्रशेखर धरणी): पंचकूला जिला प्रशासन के अथक प्रयासों के चलते जल्द अब पंचकूला लाल डोरा मुक्त होने के बेहद नजदीक है। जिले के 143 गांवो का फाइनल मैच, सर्वे ऑफ इंडिया से मिल जाने के बाद अब प्रशासन कुछ प्रॉपर्टी कार्ड ना बनने का कारण बनी त्रुटियों और विवादों को समाप्त करने पर काम कर रहा है। इसे लेकर उपायुक्त महावीर कौशिक ने जिले के तमाम संबंधित अधिकारियों एसडीएम- तहसीलदार- बीडीओ इत्यादि को समाधान के निर्देश जारी किए हैं। हालांकि जिला प्रशासन 85 फीसदी प्रॉपर्टी कार्ड बनाकर मालिकों को आवंटित कर चुका हैं, बाकी बचे लोगों के प्रॉपर्टी कार्ड जल्द बनाने को लेकर जिला प्रशासन एक अभियान के रूप में दिन-रात लगा हुआ है।

पंचकूला संबंधित कई विषयों को लेकर जिला उपायुक्त महावीर कौशिक ने बताया कि मुख्यमंत्री पंचकूला खासतौर तौर पर मोरनी क्षेत्र के विकास को लेकर काफी गंभीर हैं और उनके दिशा निर्देश पर मोरनी को और अधिक डेवलप करने के लिए डिस्ट्रिक्ट विजन प्लान के तहत जिले के सभी संबंधित अधिकारियों की बैठक लेकर लगातार विचार विमर्श चलता रहता है। ट्राई सिटी का हिस्सा पंचकूला पूरी तरह से विकसित है, जबकि मोरनी कनेक्टिविटी की कमजोरी के कारण विकास से अछूता रह गया है। इसलिए हम कनेक्टिविटी को लेकर आगे बढ़ रहे हैं। जिससे आमजन के आने-जाने के साथ-साथ टूरिज्म में भी बढ़ोतरी होगी।

कई राज्यों के साथ लगती सीमाओं के कारण पंचकूला के लिए नशा हमेशा बड़ी चुनौती रहा

पंचकूला उपायुक्त के अनुसार कई राज्यों के साथ सीमाएं लगने के कारण पंचकूला नशे की संभावनाओं से कभी अछूता नहीं रहा। जिसे लेकर नशा हमेशा एक बड़ी चुनौती रहा है और जिला प्रशासन के ध्येय के साथ-साथ विधानसभा स्पीकर द्वारा भी नशा मुक्त पंचकूला बनाने के लिए भरपूर प्रयास रहते हैं। पुलिस द्वारा नशा संबंधित जानकारी देने के लिए टोल फ्री नंबर जारी किया गया है। प्रशासन लगातार स्कूल- कॉलेजों- मार्केट और नुक्कड़ नाटकों के माध्यम से नशे के दुष्प्रभावों को लेकर जागरूकता अभियान चला रहा है। पुलिस प्रशासन द्वारा लगातार एक माह तक अभियान चलाया गया। हमने लोगों को मोटिवेट करने के लिए तमाम सोशल वेलफेयर विभाग रेड क्रॉस, सिविल सर्जन, शिक्षा विभाग की कोर्डिनेशन टीम बनाई है। हम लगातार नशा मुक्ति संबंधी सैंटरो से भी टच में रहते हैं। पुलिस लगातार नशे का कारोबार करने वाले लोगों के खिलाफ अभियान चला रही है। काफी चालान और एफ आई आर दर्ज की गई है प्रशासन पूरी तरह से संवेदनशील है और हम नशा तस्करों को उभरने नहीं देंगे।

घग्गर नदी के आसपास अवैध माइनिंग को रोकने के लिए जिला प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद

घग्गर नदी के आसपास हो रही अवैध माइनिंग को लेकर जिला उपायुक्त पंचकूला महावीर कौशिक ने सबडिवीजन लेवल पर एसडीएम की अध्यक्षता में एसीपी, एक्साइज एंड टैक्सेशन, माइनिंग विभाग, तहसीलदार और बीडीपीओ की संयुक्त टास्क फोर्स के गठन पर जानकारी देते हुए बताया कि किसी भी सूरत में अवैध रूप से माइनिंग ना हो सके, इसके लिए लगातार अधिकारियों की बैठकें लेते रहते हैं। अब रूटीन में यह अधिकारी नजर रखेंगे। क्योंकि मानसून सीजन के दौरान 1 जुलाई से 15 सितंबर तक माइनिंग पर पूर्णतया रोक है साथ ही हरियाणा सरकार के मुख्य सचिव संजीव कौशल द्वारा हाल ही में अवैध माइनिंग को रोकने के लिए सभी जिलों के उपायुक्तों और पुलिस अधीक्षकों के साथ वीडियो कांफ्रेंस के जरिए अवैध माइनिंग को रोकने के लिए सख्त हिदायतें जारी की गई हैं। पंचकूला प्रशासन भी पूरी तरह से सतर्क है।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भीबस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

 

 

 

 

 

 

 

 

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!