इतिहास गवाह है कांग्रेस को लड़ने के लिए किसी दूसरे की जरूरत नहीं पढ़ी : देवेंद्र बबली

Edited By Isha, Updated: 03 Apr, 2022 09:27 AM

history is witness did not read the need for anyone else to fight congress

शहरों की तर्ज पर गांवों का विकास सुनिश्चित करने को लेकर हरियाणा सरकार पूरी तरह से मन बना चुकी है। लगातार मूलभूत आवश्यकताओं के साथ-साथ शहरों की तरह सीवरेज व्यवस्था, स्ट्रीट लाइट, बेहतर शिक्षा प्रणाली, लाइब्रेरी, जिम, स्टेडियम इत्यादि की सुविधाओं से...

चंडीगढ़(चन्द्र शेखर धरणी): शहरों की तर्ज पर गांवों का विकास सुनिश्चित करने को लेकर हरियाणा सरकार पूरी तरह से मन बना चुकी है। लगातार मूलभूत आवश्यकताओं के साथ-साथ शहरों की तरह सीवरेज व्यवस्था, स्ट्रीट लाइट, बेहतर शिक्षा प्रणाली, लाइब्रेरी, जिम, स्टेडियम इत्यादि की सुविधाओं से प्रत्येक गांव को लैस करना सरकार की प्राथमिकताओं में से एक है। यह बात प्रदेश के विकास एवं पंचायत मंत्री देवेंद्र बबली ने पंजाब केसरी से बातचीत के दौरान कही है। बबली टोहाना से विधायक हैं और उन्होंने आम आदमी पार्टी पर टिप्पणी करते हुए कहा है कि पंजाब के लोगों की उम्मीदों पर खरा न उतरने के कारण पुरानी सरकारों को नकारा गया है। जनता की उम्मीदों के अनुसार डिलीवरी करनी होगी, तभी जनता दोबारा आशीर्वाद देती है। इसी तर्ज पर हरियाणा सरकार कार्य कर रही है। बबली ने कहा कि दूसरे को रोकना मकसद नहीं होना चाहिए, बल्कि अपने आपको इतना मजबूत और सुदृढ़ करना होगा कि जनता मान सके कि इनसे बेहतर कोई नहीं हो सकता।

प्रशन:- आपके विभागों को लेकर ढाई साल में  आपका क्या रोडमैप है ?
उत्तर:-
सरकार की स्कीमों को गांव के धरातल पर उतारना, गांव में शहरों वाली सुविधाएं देकर ग्रामीण लोगों का जीवन स्तर बेहतर बनाना, गलियां- नालियां स्कूल- स्टेडियम जैसी मूलभूत सुविधाएं, सुरक्षा व्यवस्था और आम जनमानस के जीवन स्तर को बेहतर बनाना सरकार की सोच है। हमने विभाग के अधिकारियों को भी पूरे प्रदेश के गांवों का ब्लूप्रिंट तैयार करने के निर्देश दिए हुए हैं ताकि बेहतर तरीके से- तेज गति से विकास गांवों तक पहुंचे। सरकार ने शहरों के साथ लगते गांवों चाहे महापंचायतें हैं उनमें बेहतर सीवरेज व्यवस्था, स्ट्रीट लाइट, स्कूल की बेहतरी, शिक्षा स्तर को ऊंचा उठाने की तरफ तेज गति से कदम बढ़ाए हैं। प्रदेश के मुख्यमंत्री ने हर गांव में 35 से 50 सिटिंग की व्यवस्था वाली लाइब्रेरी खोलने की घोषणा की है ताकि आधुनिक शिक्षा का स्तर गांव में बढ़े और गांव के बच्चे अच्छे कंपटीशन के लिए तैयारी कर सकें। पहले सरकार जिम के लिए पैसा देती रही, लेकिन प्रॉपर सेटअप देखने को नहीं मिला। हमने इसके लिए गांव की पुरानी इमारतों को चिन्हित किया है। इस कार्य में युवा विंग को जिम्मेदारी सौंपी है। खिलाड़ियों को इसमें शामिल किया गया है। हम गांवों में 2 स्टार 3 स्टार लेवल की जिम बनाने की तैयारी कर चुके हैं। हम स्टेडियमों के नवीनीकरण और सुधारी करण का काम कर रहे हैं। हमारी सरकार शहरों में मौजूद हर सुविधा प्रदेश की हर पंचायत को देने की दिशा में आगे बढ़ रही है।

प्रशन:- ग्रामीण महिलाओं को सुदृढ़ करने की दिशा में भी क्या कोई सोच- विचार सरकार का है ?
उत्तर:-
पंचायती चुनाव पर रोक लगी हुई है। हमने 50 फ़ीसदी योगदान पंचायतों में महिलाओं को देना सुनिश्चित किया है। यह मामला कोर्ट में विचाराधीन है।महिलाएं हर भुमिका- हर जिम्मेदारी को बहुत अच्छे से निभाती है। हमने बुजुर्ग महिलाओं के लिए सांस्कृतिक भवन हर गांव में देने की योजना बनाई है। जिस प्रकार से बुजुर्ग गांव में मौजूद चौपाल में बैठकर बातचीत और चर्चा करते है, इसी प्रकार से इन भवनों में महिलाएं बैठकर चर्चा कर सकती हैं और अपनी श्रद्धा के अनुरूप भजन इत्यादि कर सकती हैं। यह महिलाओं के लिए एक बड़ा सम्मान है। एक अच्छा प्लेटफार्म है।

प्रशन:- भविष्य को लेकर महत्वपूर्ण तीन बिंदुओं पर प्रकाश डालें ?
उत्तर:-
हमारा पहला मुख्य फोकस शिक्षा है। शिक्षा के साथ चिकित्सा है। चिकित्सा के लिए ग्रामीणों को गांव में ही बेहतर सुविधाएं दी जा सके, हमारी सरकार गांव में ही शहर की सुविधाएं देने को लेकर अपना लक्ष्य निर्धारित कर चुकी है ताकि ग्रामीणों को शहर की तरफ ना दौड़ना पड़े। हम जल जीवन मिशन के तहत प्रदेश के 75 से 90 फ़ीसदी गांवों को शुद्ध जल उपलब्ध करवाया है। जगमग योजना के तहत प्रदेश के अधिकतर गांवों को 24 घंटे बिजली दी जा रही है। पहले गांव के लोग बिजली के लिए तरसते थे। आज शहरों की तर्ज पर बिजली उन्हें मिल रही है। गांव में 3500 जोहड़ हमने फिर से जीवित किए हैं। हमने प्रदेश में बड़ा महासफाई अभियान चलाया। हम लगातार पौधे लगवा रहे हैं।


प्रशन:- क्या आप समझते हैं कि यह कदम पर्याप्त होंगे ?
उत्तर:-
सरकार अपना काम करती हैं और सरकारें काम करने के लिए ही बनाई जाती हैं और सरकारों पर उम्मीद की भी जानी चाहिए। लेकिन जब गांव और शहरों में मौजूद आमजन अपनी जिम्मेदारियों को थोड़ा सा भी समझेंगे, आम आदमी जब थोड़ा सा आगे आएगा तो पैसे का सदुपयोग होना और काम की गुणवत्ता का होना सुनिश्चित हो जाएगा। यह बेहद जरूरी है।

प्रशन:- पंजाब-राजस्थान के साथ लगते जिलों में नशा पांव पसार रहा है, क्या कहेंगे ?
उत्तर:-
यह बिल्कुल सत्य है। पहले पंजाब में ही नशे की बात देखने और सुनने को मिलती थी। अब हरियाणा भी इसकी चपेट में लगातार आ रहा है। हरियाणा सरकार ने इसके लिए एक स्पेशल एसआईटी भी गठित की हुई है। सरकार की कोशिशों के कारण ही बहुत सी जगहों पर स्वम नशा करने वाले लोग पेश होकर अपने इलाज करवाने की मांग कर रहे हैं। यह  इस प्रकार के नशे हैं कि एक बार जो व्यक्ति से इस्तेमाल करता है, उसका बहुत भारी नुकसान वह स्वयं, परिवार और समाज उठाता है। बेहद घातक परिणाम साबित होते हैं। नशे को जड़ से खत्म करने के लिए सरकार मजबूती से लगी हुई है
 

प्रशन:- पंजाब में सत्ता परिवर्तन और आम आदमी पार्टी की 92 सीटों से प्रचंड जीत को कैसे देखते हैं ?
उत्तर:-
लोकतंत्र है और जनमत का सम्मान करना होगा। पंजाब के लोगों को अवश्य ही यह लगा होगा कि पहले की सरकारें जिस ढंग से सत्ता में लाई गई थी, उस ढंग से वह खरा नहीं उतर पाई। सरकार जनता की सोच के अनुरूप कार्य नहीं कर पाई। इसलिए इतना बड़ा बदलाव हुआ है। आने वाले समय में सत्ता पर आसीन हुई आम आदमी पार्टी अपने वायदों पर कितना खरा उतरती है, यह देखना होगा।

प्रशन:- हरियाणा में भी आम आदमी पार्टी की चाहत नेताओं में काफी बढ़ी है ?
उत्तर:-
यह चलता रहता है। कभी कोई कहीं- कभी कोई कहीं यह राजनीतिक एक परंपरा सी बन गई है।

प्रशन:- कांग्रेस में चौधर (प्रदेशाध्यक्ष) को लेकर हो रही सिर फुटव्वल को क्या कहेंगे ?
उत्तर:-
यह कांग्रेस की परंपरा आज की नहीं है। लंबे समय का इतिहास उठाकर देख लो इन्हें किसी दूसरे की जरूरत नहीं रही है। यह खुद ही आपस में लड़ने के लिए काफी हैं। जनता सब जानती, देखती और समझती है। कि प्रदेश हित में कौन है, जनता समझ चुकी है।

प्रशन:- आम आदमी पार्टी के प्रभाव को हरियाणा में रोकने के लिए क्या कदम उठाए जाने आवश्यक मानते हैं ?
उत्तर:-
हम किसी को रोक सकते हैं और मैं इस सोच का व्यक्ति भी नहीं हूं। हम और बेहतर क्या कर सकते हैं, हमें उस पर चलना होगा। जिस रूप में हमें जनता ने चुना है, उसी रूप में हमें डिलीवरी देनी होगी। टोहाना ने मुझे अपना प्रतिनिधि चुना, मुझे मंत्री पद की जिम्मेदारी सौंपी गई, मुझे दोनों जिम्मेदारियों की डिलीवरी बेहतरी से देनी होगी। सरकार को अपनी डिलीवरी देनी होगी। अगर ग्राउंड पर डिलीवरी बेहतर होगी। अगर मान-सम्मान और विकास के पथ पर हम आगे बढ़ेंगे तो किसी को रोकने की जरूरत नहीं होगी। अपने आपको आगे बढ़ाने की जरूरत है। जनता के मुद्दों और किए वायदों पर खरा खुद उतरना होगा। मेरी सोच है कि हम आगे बढ़ेंगे और अवश्य बढ़ेंगे। किसी को रोकने की जरूरत नहीं है और फैसला जनता बेहतर करेगी।

प्रशन:- फिलहाल भाजपा और जजपा रैलियां शुरू कर चुकी है, इसका क्या कारण माना जाए ?
उत्तर:-
आज गठबंधन की सरकार है और हम भारतीय जनता पार्टी के सहयोगी के रुप में सरकार में शामिल हैं। हमारी पार्टी कभी भी ग्राउंड से दूर नहीं हुई। हमेशा लोगों के बीच में रही। हमारी ड्यूटीया बंटी हुई है। कहीं उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला तो कहीं हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ अजय सिंह चौटाला जिम्मेदारियां संभाल रहे हैं। हमारा एक-एक कार्यकर्ता अपने मोर्चे पर है और इसी तरह भाजपा भी लगी हुई है। हमारी यही जिम्मेदारी बनती है कि जनता के बीच में रहे और जनता की मूलभूत आवश्यकताओं को पूरा करने की पर्याप्त कोशिश करें। जिस उम्मीद से जनता सरकार को बनाती है, उसी दिशा में विधायक, मंत्री और स्वयं मुख्यमंत्री को भी आगे बढ़ना होगा। सभी मिलकर हरियाणा के विकास को सुनिश्चित करें। आंदोलन के दौरान जिस प्रकार से सरकार को घर में नजरबंद कर दिया गया। प्रदेश का भाईचारा खराब करने की कोशिश की गई। जबकि सरकार का कोई कसूर नहीं था। लेकिन बहुत शालीनता से सरकार ने इस सिस्टम को निपटा। काम और विकास की गुणवत्ता के साथ हम जनता को मूलभूत सुविधाएं देने की सोच और जीरो टोलरेंस की नीति से आगे बढ़ रहे हैं। जनता का आशीर्वाद भी अवश्य मिलेगा।

 

 

 

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!