हरियाणा विधानसभा भवन मामला: पंजाब के विरोध पर मूलचंद शर्मा बोले- चंडीगढ़ दोनों राज्यों की राजधानी है

Edited By Manisha rana, Updated: 24 Nov, 2022 09:59 AM

haryana vidhansabha bhawan issue moolchand on opposition punjab

पंजाब के तमाम नेताओं द्वारा चंडीगढ़ में हरियाणा की अलग से विधानसभा बनने पर एतराज को लेकर कड़ी टिप्पणी करते हुए प्रदेश के परिवहन एवं खनन मंत्री मूलचंद शर्मा...

चंडीगढ़ (धरणी) : पंजाब के तमाम नेताओं द्वारा चंडीगढ़ में हरियाणा की अलग से विधानसभा बनने पर एतराज को लेकर कड़ी टिप्पणी करते हुए प्रदेश के परिवहन एवं खनन मंत्री मूलचंद शर्मा ने कहा है कि पंजाब के नेताओं की इस प्रकार की नीति और रिति ठीक नहीं। वह कुछ भी बोल रहे हैं, कभी पानी नहीं देंगे तो कभी विधानसभा नहीं बनने देंगे। क्या चंडीगढ़ इनकी बपौती है। क्या इनकी धरोहर है। 

उन्होंने बताया कि चंडीगढ़ केंद्रशासित एक राजधानी है। इसलिए इस पर इस प्रकार के बयान देना पंजाब के लिए कतई ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि अपनी बात कहने का सभी को अधिकार है। लेकिन यह फैसला केंद्र का है और केंद्र अपना क्षेत्र किसी को भी दे, इसमें पंजाब कुछ नहीं कर सकता। उन्होंने कहा कि हर क्षेत्र में आज हरियाणा अग्रिम प्रदेश है। पंजाब की सरकार पंजाब के हित में काम करें। यह फैसला केंद्र का है कि क्या और कितना किसको देना है। इसके लिए केंद्र को पंजाब से पूछने की जरूरत नहीं है।

जल्द शुरू होगी 6 जिलों में ई-टिकटिंग : मूलचंद शर्मा

मूलचंद शर्मा ने कहा कि पंजाब कभी केंद्र तो कभी सुप्रीम कोर्ट की बात को नहीं मानता। पंजाब की यह बात पंजाब और देश के हित में नहीं है। उन्होंने कहा कि आज चाहे पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार हो, पहले कांग्रेस की सरकारें रही, सरकार का दायित्व है कि हमेशा हर बात देश और प्रदेश के प्रति सोचकर बोलें। पंजाब से अलग होते वक्त विधानसभा और पानी में हरियाणा की हिस्सेदारी सुनिश्चित हुई थी। लेकिन हमें हमारा पूरा हिस्सा नहीं दिया गया। लगातार हम छोटे भाई के रूप में अपने हिस्से की मांग करते रहे। लेकिन इस भूमिका में पंजाब कभी नजर नहीं आया। हम अपने अधिकार को लेकर रहेंगे, क्योंकि हम भीख नहीं मांग रहे। यह हमारा अधिकार है, हमारा हिस्सा है और हमारा स्वाभिमान है जो हम मांग रहे हैं। मूलचंद शर्मा ने विधानसभा के पंजाब के कब्जे वाले हिस्से को छुड़वाने की पहल की सराहना करते हुए कहा कि माननीय अध्यक्ष की यह पहल तारीफ के काबिल है। हरियाणा को अपने हिस्से वाला क्षेत्र खाली करवाना चाहिए। उन्होंने अपने परिवहन विभाग की जानकारी देते हुए कहा कि जल्द ही प्रदेश के 6 जिलों में ई टिकटिंग की सुविधा शुरू होने जा रही है जो कि जल्द पूरे प्रदेश में भी शुरू करेंगे।

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)  


 

Related Story

Trending Topics

Bangladesh

India

Match will be start at 10 Dec,2022 01:00 PM

img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!