गुमनाम पत्र मामला: आरोपियों का होगा पॉलीग्राफी टेस्ट, ADGP ने की पीड़िता से सामने आने की अपील

  • गुमनाम पत्र मामला: आरोपियों का होगा पॉलीग्राफी टेस्ट, ADGP ने की पीड़िता से सामने आने की अपील
You Are HereHaryana
Tuesday, September 26, 2017-3:35 PM

गोहाना(सुनील जिंदल): गोहाना छात्रा द्वारा पीएम को गुमनाम पत्र लिखकर निजी स्कूल के स्टाफ पर लगाए रेप के आरोप मामले की जांच के लिए हरियाणा प्रदेश एडीजीपी लॉ एंड आर्डर मोहम्मद अकील गोहाना पहुंचे। जहां उन्होंने कि पुलिस इस मामले के हर पहलु पर जांच कर रही है। गुमनाम पत्र डालने वाली छात्रा का सुराग लगाने का प्रयास किया जा रहा है। पुलिस के पास जो पत्र पहुंचा है वह डाक द्वारा नहीं भेजा गया है। उन्हाेंने गुमनाम पत्र प्रकरण में उन्होंने पुलिस फाइल देखी अौर पुलिस द्वारा अब तक की गई कार्रवाई की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि पत्र की भाषा व पत्र डालने का जो तरीका अपना गया है वह काफी संदिग्ध दिखाई दे रहा है।
PunjabKesari
मो. अकिल ने प्रैस वार्ता कर मीडिया के माध्यम से पीड़िता को सामने आने की अपील की है। उन्होंने कहा यदि कोई पीड़िता है या जिसे इस मामले की जानकारी है वह स्थानीय पुलिस या फिर एसपी सोनीपत से आकर मिले। सूचना देने वाले की पहचान गुप्त रखी जाएगी।

मोहम्मद अकील ने कहा कि गुमनाम पत्र में लिखें ओम पब्लिक स्कूल के दोनों कर्मचारियों के पूछताछ के बाद गोहाना कोर्ट में पेश किया गया। गोहाना पुलिस द्वारा कोर्ट से कर्मबीर व सुखबीर के पोलीग्राफ टेस्ट करवाने की अनुमति ली गई। जल्द ही पोलीग्राफ टेस्ट के माध्यम से सच्चाई को उजागर किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अभी तक जांच बंद नहीं की है। पूरे प्रकरण की कई तरीकों से जांच की जा रही है। यह मामला झूठा भी हो सकता है अौर इसमें सच्चाई भी हो सकती है। जिस छात्रा द्वारा पत्र भेजे जाने की बात कही जा रही है। उन सभी की सत्यता की जांच की जा रही है। गुमनाम पत्र में जिन पतों पर भेजे जाना लिख गया है। अभी तक किसी भी कार्यालय में पत्र नहीं पहुंचा है। पत्र एसपी कार्यालय में भेजेे जाने की बात कही गई थी। अभी तक एसपी कार्यालय में भी कोई पत्र नहीं पहुंचा है।
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!