RTA विभाग में भ्रष्टाचार को लेकर कार्रवाई, जिला पार्षद का पति व 1 कर्मचारी काबू

  • RTA विभाग में भ्रष्टाचार को लेकर कार्रवाई, जिला पार्षद का पति व 1 कर्मचारी काबू
You Are HereRewari
Tuesday, January 9, 2018-2:25 PM

रेवाड़ी (वधवा): आर.टी.ए. विभाग में व्याप्त भ्रष्टाचार को लेकर सी.एम. उड़नदस्ते की टीम ने जिला पार्षद के पति व 1 कर्मचारी को गिरफ्तार किया है। परिवहन आयुक्त ने कार्यालय के सहायक सचिव को भी निलंबित कर दिया है। आर.टी.ए. विभाग में भ्रष्टाचार की शिकायतें मिलने के बाद 2 दिन पूर्व गुरुग्राम से आई सी.एम. उड़नदस्ते की टीम जिला पार्षद के पति दयाशंकर व कर्मचारी सतीश को अपने साथ ले गई थी। 

इनकी गिरफ्तारी की पुष्टि उस समय हुई जब सी.एम. उड़नदस्ते की टीम आर.टी.ए. कार्यालय में आरोपी कर्मचारी सतीश को लेकर पहुंची। टीम के आने से पहले ही कुछ कर्मचारी छुट्टी पर चले गए और कुछ इधर-उधर हो गए। टीम ने सतीश के साथ उसके कार्यालय जाकर कागजात खंगाले और पूछताछ की। सूत्रों की मानें तो ए.डी.सी. कार्यालय के एक कर्मचारी पर आर.टी.ए. विभाग में महत्वपूर्ण सीट की अदला-बदली करने की एवज में मोटी रकम वसूलने का आरोप है।

एक माह पूर्व सी.एम. उड़नदस्ते ने गुरुग्राम के एक दलाल को धर-दबोचा था। रेवाड़ी कार्यालय में बाहरी वाहन चालकों का यहां गैर-कानूनी तरीके से नवीनीकरण किया जा रहा था। दयाशंकर को जहां न्यायिक हिरासत में भेज दिया है, वहीं सतीश को रिमांड पर लिया गया है और मंगलवार को अदालत में पेश किया जाएगा।

यह थी लोगों की शिकायत
गौरतलब है कि कार्यालय में काम करवाने आने वाले हर व्यक्ति की शिकायत थी कि उनके दलालों के मार्फत ही काम होते हैं। कर्मचारी सर्वर न चलने का बहाना बनाकर लोगों को टरका देते थे। थक-हारकर उन्हें दलालों की शरण में जाना पड़ता था। जब इस सम्बंध में उप-निरीक्षक से बात करनी चाही तो उन्होंने कुछ भी कहने से इंकार कर दिया।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन