CBI कोर्ट के फैसले को राम रहीम की हाईकोर्ट में चुनौती

  • CBI कोर्ट के फैसले को राम रहीम की हाईकोर्ट में चुनौती
You Are HereNational
Monday, September 25, 2017-4:35 PM

पंचकूला(ब्यूरो): साध्वियों से रेप मामले में राम रहीम को सीबीआई की विशेष अदालत द्वारा सुनाई गई सजा को हाईकोर्ट में चुनौती दी है। राम रहीम की सजा को लेकर उसके वकील ने हाईकोर्ट में चुनौती दी है। राम रहीम रोहतक की सुनारिया जेल में 20 साल की सजा काट रहा है।

सोमवार को राम रहीम ने सीबीआई कोर्ट द्वारा सुनाई गई सजा के खिलाफ हाईकोर्ट में अपील दायर की। साध्वी यौन शोषण मामले में गुरमीत राम रहीम को सीबीआई की विशेष अदालत ने 25 अगस्त भारतीय दंड संहिता (आइपीसी) की तीन धाराओं 376  (दुष्कर्म), 506 (डराने-धमकाने) और 509 (महिला की अस्मत से खिलवाड़) के तहत दोषी ठहराया था। गुरमीत को दोषी करार दिए जाने के बाद पंचकूला और सिरसा में डेरा समर्थकों ने जमकर उपद्रव मचाया था। जिसके बाद सजा सुनाने के लिए रोहतक की सुनरिया जेल में अदालत लगी और राम रहीम को 20 साल की सजा सुनाई गई।

उल्लेखनीय है कि कोर्ट ने 28 अगस्त को दो साध्वियों के यौन शोषण के दोषी सिद्ध हुए राम रहीम को दोनों केसों में दस-दस साल की सजा सुनाई। ये दोनों सजाएं अलग-अलग चलनी है। इसके साथ ही उस पर 15-15 लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया गया था। इस राशि में से 14-14 लाख दोनों पीड़िताओं को मिलना तय हुआ था।
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!