ठंड में होने वाले चिंतन शिविर से गर्माया राजनीतिक माहौल

  • ठंड में होने वाले चिंतन शिविर से गर्माया राजनीतिक माहौल
You Are HereLatest News
Thursday, December 14, 2017-1:08 PM

चंडीगढ़(ब्यूरो):टिंबर ट्रेल में पहाड़ की ऊपरी चोटी पर होने वाले चिंतन शिविर को लेकर प्रदेश का राजनीतिक माहौल गर्माया हुआ है। विपक्षी दल शिविर को फिजूलखर्ची करार देते हुए उसके औचित्य पर सवाल उठा रहे हैं तो वहीं मुख्यमंत्री से लेकर मंत्रियों का मानना है नव-हरियाणा के निर्माण की रूपरेखा तैयार की जाएगी। 3 दिवसीय शिविर 15 से 17 अगस्त तक होगा जिसमें सभी मंत्री एवं प्रशासनिक सचिव शामिल होंगे। मंत्रियों से लेकर अधिकारी तक शिविर की तैयारियों में व्यस्त हो गए है। 

शिविर के एजैंडों एवं तैयारियों को लेकर मुख्य सचिव ने वीरवार को सुबह प्रशासनिक सचिवों की बैठक भी बुलाई है। सभी अधिकारी आज शिविर की तैयारियों को लेकर आपस में चर्चा करते दिखाई दिए कि ठहरने की व्यवस्था क्या होगी। अधिकांश प्रशासनिक सचिवों ने यह पता लगाने का प्रयास किया कि उनके साथ कमरे में कौन अधिकारी ठहरेगा, क्योंकि 2-2 अधिकारियों को एक कमरे में ठहरना है।  ङ्क्षचतन शिविर के एजैंडों में स्वास्थ्य को बाहर रखा गया है, ऐसे में चर्चा है कि प्रदेश सरकार स्वास्थ्य को ज्यादा महत्वपूर्ण मुद्दा नहीं मानती। मिजोरम के पूर्व राज्यपाल ए.आर. कोहली पहले ही दिन अपने राजनीतिक अनुभव साझा करेंगे।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन