रंजिश के चलते हुए खूनी संघर्ष में चली गोलियां, 2 लोगों की मौत(Video)

You Are HereHaryana
Tuesday, January 9, 2018-3:18 PM

समालखा(अरविंद कुमार): समालखा के नामुंडा गांव में गत रात करीब 9 बजे दो पक्षों में गोलीबारी और धारदार हथियार चलने से दो लोगों की मौत हो गई। जबकि एक युवती सहित चार लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। घायलों को गंभीर हालत में खानपुर रेफर किया गया है। घटना का पता चलते ही मौके पर पहुंचे पुलिस अधीक्षक ने दोनों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। 
PunjabKesari
विवाद की वजह रही कार पार्किंग
6 साल पहले नामुंडा गांव में लालचंद के बेटे पाला की लड़की की शादी थी। शादी समारोह के दौरान जगदीश व धर्मेंद्र पक्ष के बीच गली में गाड़ी खड़ी करने को लेकर विवाद हुआ था। गत रात करीब 9 बजे जगदीश अपने पिता को घर खाना खिलाकर अपने छोटे भाई के पास छोड़ने जा रहा था। इसी दौरान धर्मेंद्र अपने भाई राजेंद्र के साथ कार लेकर गांव पहुंचा और लालचंद को टक्कर मार दी। टक्कर लगने के तुरन्त बाद दोनों पक्षों के बीच विवाद हो गया।

विवाद में चली गोली और तलवारें 
टक्कर लगते ही जगदीश के परिजनों ने लाठी, डंडों व धारदार हथियार से धर्मेंद्र पर हमला कर दिया और उसे कार में ही पीट-पीटकर मार डाला। वहीं, धर्मेंद्र के भाई राजेंद्र ने लाइसेंसी बंदूक से जगदीश पर फायरिंग कर दी, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। बीच-बचाव करने आए धर्मेंद्र के पिता महावीर व बहन कुसुमलता को भी काफी चोटें आई हैं। इस दौरान एक गोली जगदीश के भांजे महेश के पेट में लगकर आर-पार हो गई। 

गांव में पसरा हुआ है सन्नाटा
एक रात में दो लोगों की मौत के बाद से गांव में तनाव की स्थिति बनी हुई है। घटना के बाद से गांव में तकरीबन सभी घरों के दरवाजे बंद है। लोगों ने बताया कि धर्मेंद्र का परिवार करीब 20 साल पहले खानपुर से आकर गांव में बसा था। वहीं, जगदीश का परिवार लंबे समय से यहां रह रहा है। मृतक जगदीश के तीन लड़के व एक लड़की है जबकि धर्मेंद्र का एक लड़का है। 

दूध लेने गया था महेश
जगदीश के दूसरे भांजे प्रवीण ने कहा कि उसका भाई महेश दूध लेने धर्मेद्र के मकान में बनी दुकान में गया था। जब वह दूध लेकर वापस घर आ रहा था तो रास्ते में किसी ने उसे गोली मार दी। गोली किसने चलाई इस बात का पता अभी तक नहीं चल पाया है। 
PunjabKesari
गांव में लगा है पुलिस का पहरा
गांव में दोहरी हत्या के बाद से ग्रामीण काफी सहमे हुए है और तनाव भरी खामोशी बनी हुई है। कोई कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है। फिर से दोनों पक्षों में मारपीट न हो जाए इसलिए पुलिस ने पहरा लगा दिया है। पुलिस प्रशासन ने ग्रामीणों को कहा है कि वो भी शांति बनाए रखें।

मामले की छानबीन में जुटे है डीएसपी
डीएसपी नरेश अहलावत गांव में पुलिस अधीक्षक राहुल शर्मा समेत भारी पुलिस बल के साथ पहुंचे। जहां पर उन्होंने धर्मेंद्र के घर की तलाशी ली। तलाशी के दौरान उन्हें 12 बोर की बंदूक व कई कारतूस बरामद हुए। मामले की जांच की जा रही है।


 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन