TDI में दुकानदारों को नहीं दिया गया कोई कंप्लीशन, सड़क पर आ सकते हैं हजारों दुकानदार- स्वामी

Edited By Nitish Jamwal, Updated: 25 Jun, 2024 05:54 PM

no completion was given to the shopkeepers in tdi

पानीपत अंसल सुशांत सिटी में हुए  सैकड़ो करोड़ के यूडी लैंड घोटाले की तरह अब टीडीआई में भी टीडीआई मालिकों, डीटीपी विभाग और तहसील कार्यालय द्वारा मिली भगत करके हरियाली के लिए छोड़ी गई अनिर्धारित भूमि ( यूडीलैंड) को बिना प्लानिंग ही बेचकर सरकार को...

चंडीगढ़ (चंद्र शेखर धरणी): पानीपत अंसल सुशांत सिटी में हुए  सैकड़ो करोड़ के यूडी लैंड घोटाले की तरह अब टीडीआई में भी टीडीआई मालिकों, डीटीपी विभाग और तहसील कार्यालय द्वारा मिली भगत करके हरियाली के लिए छोड़ी गई अनिर्धारित भूमि ( यूडीलैंड) को बिना प्लानिंग ही बेचकर सरकार को करोड़ों रुपए का चूना लगाया जा रहा है यह आरोप जोगेंद्र स्वामी पूर्व जिला पार्षद ने जन आवाज सोसाइटी के कार्यकर्ताओं के साथ जिला योजनाकार विभाग के बाहर प्रदर्शन करते हुए लगाए उन्होंने कहा कि उनके द्वारा सेक्टर 23 स्थित  टीडीआई की फर्जी तरीके से रजिस्ट्री होने का मालूम होने के बाद जब प्लॉट नंबर ए 187 ए ,ए 166 ए की रजिस्ट्री निकाली गई तो यह अचंभित करने का मामला था क्योंकि तहसील कार्यालय द्वारा स्टांप शुल्क और रजिस्ट्रेशन में लाखों रुपए की सरकार की चोरी की गई थी इसके साथ-साथ बिना प्लानिंग ही न बेचे जाने वाली यूडीलैंड को डीटीपी विभाग की मिली भगत से फर्जी तरीके से रजिस्ट्री करवा कर सरकार के साथ करोड़ों रुपए का घोटाला किया गया।

उन्होंने कहा कि जिस प्रकार उनके द्वारा अंसल सुशांत सिटी में यूडीलैंड बेचने का सैकड़ो करोड़ का घोटाला उजागर किया गया था उसमें अधिकारियों ने खुद को फंसा हुआ देखकर अंशल एपीआई को दिवालीया घोषित करवा दिया था जिसके चलते आज भी अंसल में वहां के दुकानदार अपने मालिकाना हक के लिए नेताओं के यहां चक्कर काटते फिर रहे हैं लेकिन उनकी कोई सुनवाई करने वाला नहीं वही हाल आने वाले समय में टीडीआई के अंदर भी दोहराया जाने वाला है क्योंकि टीडीआई में भी कमर्शियल साइट की कोई भी कंप्लीशन नहीं करवाई गई है और टीडीआई मालिक अब यहां की ग्रीन बेल्ट सार्वजनिक स्थानों और यूडीलैंड को बेचकर डीटीपी विभाग के साथ मिली भगत करके रफू चक्कर होने की फिराक में है।

उन्होंने मुख्यमंत्री, मुख्य सचिव हरियाणा सरकार, महानिदेशक कंट्री एंड टाउन प्लानिंग डिपार्मेंट  से लिखित में शिकायत करते हुए मांग की है कि इस भ्रष्टाचार में शामिल टीडीआई मालिकों, योजनाकार विभाग और तहसील कार्यालय पर आपराधिक मामला दर्ज करते हुए टीडीआई का तत्काल लाइसेंस रद्द किया जाए और फर्जी तरीके से की गई इन रजिस्ट्रीयो को रद्द किया जाए। इस अवसर पर रंजीत भोला, डीपी ग्रोवर, सरदार कवलजीत सिंह, प्रतीक यादव, मुंसाद तोमर, विक्की शर्मा, आशीष फौर, सनी, मनोज कुमार, आदि उपस्थित थे।

Related Story

Trending Topics

Afghanistan

134/10

20.0

India

181/8

20.0

India win by 47 runs

RR 6.70
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!