सिरसा में भड़की हिंसा के राज खोल सकती है विपश्यना इंसां, पूछताछ की तैयारी में पुलिस

  • सिरसा में भड़की हिंसा के राज खोल सकती है विपश्यना इंसां, पूछताछ की तैयारी में पुलिस
You Are HereHaryana
Wednesday, September 13, 2017-9:24 PM

सिरसा/चंडीगढ़: हरियाणा पुलिस डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को बलात्कार मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद पंचकुला और सिरसा में भड़की हिंसा के सिलसिले में जल्द ही डेरा सच्चा सौदा अध्यक्ष विपश्यना इंसां से पूछताछ करेगी। गुरमीत राम रहीम सिंह के संभावित उत्तराधिकारियों में विपश्यना भी शामिल है। हरियाणा के डीजीपी बीएस संधू ने आज यहां कहा, ‘‘सिरसा पुलिस जल्द ही विपश्यना इंसां से जांच में शामिल होने के लिए कहेगी।’’

 

हरियाणा पुलिस डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को बलात्कार मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद पंचकुला और सिरसा में भड़की हिंसा के सिलसिले में जल्द ही डेरा सच्चा सौदा अध्यक्षा विपश्यना इंसा से पूछताछ और सिरसा में भड़की हिंसा के सिलसिले में जल्द ही डेरा पुलिस ने कहा कि वह राम रहीम की विश्वासपात्र और गोद ली गई बेटी हनीप्रीत और डेरा के प्रमुख पदाधिकारी आदित्य इंसां को पकडऩे के प्रयास कर रही है और उसका मानना है कि वे अभी भी देश में ही हैं। संधू ने कहा, ‘‘हमने दोनों का पता लगाने के लिए पुलिस की टीमें हिमाचल प्रदेश और पंजाब भेजी हैं। हम यह मानकर चल रहे हैं कि वे देश में ही कहीं छुपे हुए हैं।’’ इन आशंका के बाद कि दोनों ‘‘देश से भागने’’ का प्रयास कर सकते हैं, उनके खिलाफ एक लुकआउट नोटिस जारी किया गया। 

 

डेरा सच्चा सौदा के एक अन्य पदाधिकारी सुरिंदर धीमान इंसां से पूछताछ के बाद हनीप्रीत का पता लगाने के प्रयास शुरू किए गए थे। दो साध्वियों से बलात्कार मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद गुरमीत राम रहीम को फरार होने में मदद के लिए एक कथित षड्यंत्र के सिलसिले में हिंसा भड़काने के आरोपों में सुरिंदर धीमान इंसा को गिरफ्तार किया गया था। हरियाणा पुलिस ने इससे पहले विभिन्न स्थानों पर छापेमारी की थी और पुलिस टीमों को मुम्ंबई और नेपाल की ओर सहित कई स्थानों पर भेजा गया था। हरियाणा पुलिस इसके साथ ही अन्य राज्यों की पुलिस के साथ सम्पर्क में थी। 

 

दोषी ठहराए जाने के बाद डेरा प्रमुख को रिहा कराने का षड्यंत्र रचने के लिए पंजाब पुलिस के तीन अधिकारियों को गत सप्ताह गिरफ्तार किया गया। संधू ने कहा, ‘‘पंजाब पुलिस के तीन कर्मियों को हिरासत में लिया गया है और हमने पांच अन्य कर्मियों को नोटिस जारी किए हैं और उन्हें जांच में शामिल होने के लिए कहा है।’’  डीजीपी ने कहा कि गत 25 अगस्त को डेरा प्रमुख के काफिले का हिस्सा रहे कई वाहनों को जब्त किया गया है। उन्होंने कहा, ‘‘बाकी वाहनों के मालिकों को नोटिस भेजे गए हैं।’’   
 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You