पोलियो मुक्त होने के दावे पर सवाल, ढाई साल की बच्ची में पोलियो के लक्षण

  • पोलियो मुक्त होने के दावे पर सवाल, ढाई साल की बच्ची में पोलियो के लक्षण
You Are HereNational
Sunday, September 3, 2017-4:48 PM

टोहाना(सुशील सिंगला): साल 2014 से देश पोलियो मुक्त हो चुका है और साल 2010 से हरियाणा पोलियो मुक्त हो चुका है मगर पोलियो का एक संदिग्ध मामला सामने आने से सरकारी दावों पर सवाल उठने लगे हैं। ये मामला टोहाना में सामने आया है जहां एक ढाई सील की बच्ची में पोलियो के लक्षण पाए गए हैं। पुख्ता तौर पर अभी कुछ नहीं कहा जा सकता मगर डॉक्टरों ने बच्ची में पोलियो की आशंका जताई है और इलाज के लिए उसे अग्रोहा मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया है। इस खबर के सामने आने के बाद सरकार के और स्वास्थ्य विभाग के दावों पर भी सवाल उठने शुरू हो गए हैं।
PunjabKesari
ढाई साल की बच्ची में पोलियो के लक्षण
गांव ललौदा निवासी मनजीत सिंह की ढाई वर्षीय पुत्री अन्नु को कुछ दिन पूर्व बुखार हुआ। बुखार के बाद वह गांव में दवाई दिलाकर ईलाज करवाता रहा तो बच्ची ठीक हो गई लेकिन अगले दिन सुबह उन्होंने देखा कि बेटी के पांव आपस में जुडे हुए थे। जिसके बाद उसके गरीब पिता ने मजबूरी देखते हुए बच्ची को चंडीगढ़ रोड स्थित दिल्ली बच्चों के अस्पताल में ले आया। जहां डा. विवेक ने जांच के बाद बच्ची को पोलियों आशंकित बताया और प्राथमिक ईलाज के बाद अग्रोहा मेडीकल कॉलेज रैफर कर दिया गया। अस्पताल के चिकित्सक डा. विवेक द्वारा मामले की सूचना एसएमओ डा. सतीश गर्ग को दे दी है। 
PunjabKesari
4 बच्चियों के पिता ने सरकार से लगाई गुहार
इस कहानी का दूसरा दर्दनाक पहलू ये है मनजीत सिंह रेहड़ी चलाकर घर का गुजर बसर करता है। मनजीत सिंह चार बेटियों का पिता है। मनजीत सिंह की चार बेटियों में से ये तीसरी बेटी है जो बीमार है। मनजीत सिंह के अनुसार उसकी दूसरे नंबर की बेटी को आंख में कैंसर हुआ तो सरकार से मदद की गुहार लगाई उसके आप्रेशन में ढाई लाख रुपे खर्च आया लेकिन सरकार ने महज चालीस हजार रुपए की मदद की। उसने बताया कि उसकी बेटी की आंख निकलवाने के बाद बिमारी से छुटकारा मिला। मनजीत सिंह ने बताया कि तीसरे नंबर की बेटी के हाथ में दिक्कत है जो ठीक नहीं हो सकती है। ढाई वर्ष की छोटी बच्ची को पोलियों आशंकित पाकर वो खुद को टूटा सा महसूस करता है। उसने सरकार से मदद की गुहार लगाई है। देखना ये है कि आशकित पोलिया बच्ची व मजदूर पिता की मदद के लिए बेटी बचाओं बेटी पढाओं का नारा लगाने वाली सरकार क्या मदद करती है। 
PunjabKesari
निजी अस्पताल के संचालक डा. विवेक भाटिया ने बताया दो साल की लड़की अन्नु है जिसे पोलियो आशंकित पाया गया है। वैसे वह पहले से बेहतर है। उन्होंने बताया कि बच्ची को अग्रोहा रैफर कर स्वास्थ्य विभाग को सूचना दे दी गई है। 
PunjabKesari
एसएमओ डा. सतीश गर्ग ने बताया कि ललौदा से एक बच्ची को पोलियो आशंकित होने की सूचना मिली है। जिसको पोलियो रूल आउट करना जरूरी है। उन्होंने बताया कि इस बारे में सीएमओ फतेहाबाद को सूचना दे दी गई है। उन्हें जानकारी मिली है कि बच्ची को अग्रोहा मेडीकल कालेज रैफर कर दिया है तो वहां भी बच्ची के सैंपल लेकर जांच की जाएगी। 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You