MDU Hostel के कमरे में M.Com छात्रा ने लगाई फांसी...2 पेज का लिखा सुसाइड नोट (Pics)

You Are HereHaryana
Wednesday, September 21, 2016-11:43 AM

रोहतक (दीपक कुमार): एम.डी.यू. स्थित गंगा हॉस्टल में रहने वाली एमकॉम तृतीय वर्ष की एक छात्रा ने देर शाम फांसी लगाकर सुसाइड कर लिया। हालांकि छात्रा द्वारा सुसाइड करने के कारणों का पता नहीं लग सका है। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची, लेकिन कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था। पुलिस ने किसी तरह दरवाजा खोला और शव को अपने कब्जे में लिया और मौके से 2 पेज का सुसाइड नोट भी बरामद किया।  

सुसाइड नोट में लिखा- Sorry मम्मी-पापा

*सॉरी। मम्मी, पापा, भाई। गलती हो गई भाई। आखिरी गलती कर रही हूं। प्लीज इस बार भी माफ कर दियो।

* मम्मी-पापा आप सब जितना कोई भी अच्छा नहीं हो सकता। बहुत ट्राइ किया पर गिल्ट ही नहीं जा रहा है। किसी की कोई गलती नहीं है। सारी मेरी है।

*सिर झुक गया सबका मेरी वजह से। मैं डिजर्व ही नहीं करती इतनी अच्छी फैमिली। सबको रुला दिया मैंने। सब लोग कितना करते थे मेरे लिए। जो मांगा सब दिया।

*इससे ज्यादा कोई क्या करेगा। प्लीज माफ कर देना। इसके बाद कभी कुछ गलत नहीं होगा। मेरी री आई तब भी कुछ नहीं बोला।

*हजार गलतियां की तब भी कुछ नहीं बोला। सब तो कर दिया मेरे लिए और मैं कुछ नहीं कर पाई... सब के सपने तोड़ दिए पर सच्ची कभी नहीं चाहती थी ये सब...

मौके पर पहुंचे पी.जी.आई. थाना प्रभारी मंजीत ने बताया कि मदवि स्थित गंगा हॉस्टल के कमरा नंबर 80 की खिड़की से छात्राओं ने एमकॉम की छात्रा को फंदे पर लटकते हुए देखा। यह देख छात्राओं ने शोर मचा दिया और देखते ही देखते वहां काफी संख्या में छात्राएं एकत्रित हो गई और वार्डन को इस बारे जानकारी दी। 

मामले का पता चलते ही एम.डी.यू. के आला अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए और उन्होंने देखा कि कमरा नंबर-80 अंदर से बंद है। इसी दौरान वे मौके पर पहुंचे और जैसे तैसे कमरे का दरवाजा खोलकर शव को फंदे से नीचे उतारा। बाद में शव की शिनाख्त एमकॉम की छात्रा नवीन के रुप में हुई, जोकि एमकॉम तृतीय वर्ष की छात्रा थी।  

एफ.एस.एल. की विशेष टीम मौके पर पहुंची और घटना स्थल का निरीक्षण किया। पुलिस आत्महत्या के कारणों का पता लगाने में जुटी है और पुलिस ने घटना की जानकारी मृतका छात्रा के परिजनों गांव शादीपुरा जुलाना में दी, देर शाम छात्रा के परिजन भी मौके पर पहुंचे गए और उन्होंने इस बारे में पता किया। छात्रा के परिजनों ने इस बारे में किसी तरह की जानकारी होने से इंकार कर दिया। पुलिस परिजनों से भी पूछताछ कर रही है। 

फिलहाल डी.एस.पी. पुष्पा खत्री के नेतृत्व में पुलिस की टीम मामले की जांच पड़ताल कर रही है। जांच के बाद ही आत्महत्या के कारणों का पता चल पाएगा। बताया जा रहा है कि पुलिस छात्रा के मोबाइल फोन की कॉल डिटेल से पता करने में जुटी है। छात्रा द्वारा आत्महत्या करने से अन्य छात्राएं सहमी हुई है। इससे पहले भी मदवि के हॉस्टल में 2 छात्राएं भी आत्महत्या कर चुकी है।
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You