Video:गुरुग्राम के एक अौर अस्पताल का शर्मनाक कारनामा, नवजात का शव देने के मांगे डेढ़ लाख

You Are HereNational
Thursday, December 14, 2017-5:28 PM

सोहना(सतीश राघव): फोर्टिस, मैक्स, शिवा पार्क जैसे दर्जनों निजी अस्पतालों पर कार्रवाई के बाद भी इनकी मनमानी कम होने का नाम नहीं ले रही है। एक एेसा ही मामला गुरुग्राम के सदर थाना इलाके के संवित अस्पताल का है, जहां एक नवजात की मौत पर डेढ़ लाख रुपए का बिल बना दिया गया। इतना ही नहीं रुपए जमा करवाने के बाद ही नवजात के शव को देने की बात कही गई। परिजनों के हंगामें और पुलिस में शिकायत देने के बाद अस्पताल ने मामले को बीस हजार में ही निपटा दिया।
PunjabKesari
जानकारी के अनुसार एक महिला का डिलीवरी केस सोहना के निजी अस्पताल से रेफर होकर संवित अस्पताल में आया। अस्पताल ने सिजेरियन डिलीवरी बताते हुए 60 हजार का पैकेज दिया लेकिन तीन दिन के बाद अस्पताल ने डेढ़ लाख का बिल बना दिया। इतना ही नहीं डिलीवरी के दौरान नवजात की मौत भी हो गई थी। अस्पताल ने  डेढ़ लाख जमा करवाने के बाद नवजात का शव देने की बात कही। परिजनों ने इसकी शिकायत पुलिस को दी। पुलिस की प्रबंधन पर सख्ती के बाद अस्पताल ने 2 हजार में कंप्रोमाइज कर लिया। 
PunjabKesari
वहीं अस्पताल प्रबंधक का कहना है कि इलाज में किसी भी प्रकार की कोई कोताही नहीं बरती गई। ये सारा मामला रुपयों के लेन-देन को लेकर था। उन्होंने कहा कि लोग सुविधा तो सारी चाहते हैं लेकिन रुपयों की बात आने पर आना-कानी करना शुरू कर देते हैं। निजी अस्पतालों में बहुत खर्चे होते हैं।
PunjabKesari
पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने जांच शुरू की तो पता चला कि अस्पताल ने मनमानी की है। हालांकि पुलिस शिकायत की भनक लगते ही अस्पताल प्रबंधन ने शिकायतकर्ता के साथ समझौता कर लिया। 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन