Subscribe Now!

हिसार 'गुड़िया' रेप मामले में पड़ोसी निकला कातिल, पीड़ित परिजनों के सामने कबूला जुर्म

  • हिसार 'गुड़िया' रेप मामले में पड़ोसी निकला कातिल, पीड़ित परिजनों के सामने कबूला जुर्म
You Are HereNational
Saturday, December 16, 2017-12:01 PM

उकलाना(पासा राम): उकलाना में गुड़िया के साथ हुई दरिंदगी के बाद हत्या का आरोपी कोई अौर नहीं बल्कि बस्ती के नजदीक रहने वाला युवक सोमपाल निकला। पुलिस ने बीते कल आरोपी को अदालत में पेश किया, जहां से उसे पूछताछ के लिए 1 दिन के रिमांड पर भेज दिया था। आज आरोपी का रिमांड खत्म हो जाएगा। पुलिस द्वारा आरोपी को आज शाम अदालत में पेश किया जाएगा। आरोपी को मेडिकल के लिए हिसार के अस्पताल में ले जाया गया था जहां पर उसके सिर, बाल, खून, हाथों सहित कई प्रकार के सैंपल लिए गए ताकि एफएसएल टीम द्वारा जुटाए गए तथ्यों के साथ उनका मिलान किया जा सके। पुलिस पूरी गंभीरता के साथ सभी तरह के साक्ष्य जुटाने में जुटी हुई है। वहीं आरोपी ने पीड़ित परिवार के सामने अपना जुर्म कबूल किया।
PunjabKesari
पीड़ित परिवार के सामने आरोपी ने कबूला जुर्म
पीड़ित परिवार ने बताया कि शुक्रवार सुबह जब वह चाय पी रहे थे तो पुलिस सोमपाल को लेकर आई। उसने सभी के सामने बताया कि उसने बच्ची का मुंह दबाकर उसे झोंपड़ी से उठाया और फिर वहां ले गया जहां पर उसका शव मिला था। उसने यह भी बताया कि उसने कहां से लकड़ी उठाई, जिससे बच्ची की हत्या की। इस पूरी बातचीत की पुलिस ने वीडियोग्राफी भी करवाई है। हालांकि परिवारवालों ने जब पूछा कि उसने बच्ची के साथ ऐसी दरिंदगी क्यों की तो उसने कहा वह नशे में था, इसके अलावा वह कोई जवाब नहीं दे पाया। वहीं उसके साथ कोई दूसरे व्यक्ति शामिल हैं या नहीं, इसके बारे में भी पुलिस कोई खास जवाब नहीं दे पाई।

आरोपी को गोपनीय तरीके से अस्पताल लेकर पहुंची पुलिस
पुलिस बीते दिन आरोपी को गोपनीय तरीके से सिविल अस्पताल लेकर पहुंची। जहां पुलिस टीम फिल्मी अंदाज में आरोपी को लेकर नागरिक अस्पताल में एक चिकित्सक के कमरे में जा घुसी। पुलिस की इस हरकत पर चिकित्सक हैरत में पड़ गए तथा उन्होंने इस पर नाराजगी जताते हुए पुलिस टीम को कमरे से बाहर का रास्ता दिखा दिया। चिकित्सक ने पुलिस को दो टूक कहा कि वे मैडीकल के लिए आरोपी को एमरजैंसी में लेकर जाएं। इस दौरान आरोपी के साथ सी.आई.ए. इंस्पैक्टर कप्तान तथा सिक्योरिटी इंचार्ज अमरजीत आदि भी मौजूद थे। इसके बाद पुलिस की टीम आरोपी को इमरजेंसी वार्ड लेकर पहुंची। मेडिकल के दौरान पुलिस ने आरोपी के ब्लड, बाल और अन्य सैंपल लिए। जिनकी जांच के लिए आगे प्रक्रिया शुरू की जाएगी। मेडिकल जांच के दौरान सुरक्षा इंताजामातों के चलते उसके यूरिन का सैंपल भी इमरजेंसी वार्ड के अंदर ही लिया गया। आरोपी की पहचान को उजागर नहीं होने के दृष्टिगत उसे पूरी तरह कवर करके लाया गया।

मीडिया से छुपाने के लिए बैकडोर से निकली पुलिस
पुलिस आरोपी के साथ मुख्य दरवाजे की बजाय अस्पताल के पिछवाड़े कच्चे-पक्के रास्ते से होती हुई अस्पताल के अंदर दाखिल हुई। इतना ही नहीं आरोपी का मैडीकल करवाने के बाद अस्पताल की एमरजैंसी से बाहर निकलने के लिए भी पुलिस ने दरवाजा नहीं बल्कि खिड़की का इस्तेमाल किया। कुल मिलाकर पुलिस के दिमाग में दिनभर मीडिया का फोबिया हावी था।

एस.डी.एम. ने सौंपा 4.12 लाख का चैक
सरकार की ओर से एस.डी.एम. पृथ्वी सिंह ने मृतका के पिता रमेश नाथ को 4 लाख 12 हजार 500 रुपए की राशि का चैक भेंट किया। परिवार को बताया गया था। शेष राशि भी जल्दी ही सरकार द्वारा भेज दी जाएगी। 

आधार कार्ड में नाबालिग
5 साल की बच्ची से दरिंदगी के आरोपी सोमपाल को पुलिस बालिग मान रही है जबकि आधार कार्ड में उसकी जन्म तिथि 1 जनवरी 2000 अंकित है। आधार कार्ड के मुताबिक वारदात वाले दिन 9 दिसम्बर को उसकी आयु 17 वर्ष व 21 दिन थी। वहीं पुलिस ने उसे जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड के सामने पेश न करके सीधे सिविल जज की कोर्ट में पेश किया है।

20 मीटर के दायरे में रहता है हत्यारा
 पुलिस की माने तो बच्ची के साथ दरिंदगी करने का आरोपी पीड़ित के पड़ोस में करीब 20 मीटर के दायरे में ही रहता है। पुलिस आरोपी सोमपाल को उस झोंपड़ी में भी लेकर पहुंची जहां से 8-9 तारीख की रात मासूम बच्ची का आरोपी ने तब अपहरण कर लिया था जब उसकी मां व 2 भाई-बहन के साथ वह झोंपड़ी में सो रही थी। आरोपी उसे नजदीक ही टैलीफोन एक्सचेंज के निकट ले गया और दरिंदगी बरतते हुए उसकी हत्या कर दी। पुलिस ने आरोपी को पीड़ित परिवार के सामने भी यह कबूल करवाया कि उसने ही जघन्य कांड को अंजाम दिया है। बच्ची के पिता ने कहा है कि अगर इस हत्याकांड में कोई और भी है तो उनको भी गिरफ्त में लिया जाए।

रात को छत पर था आरोपी
मीडिया को एक बार फिर मृतका की मां ने बताया कि सोमपाल को उस रात उसने उसके मकान की छत पर देखा था। यह नशेड़ी लड़का है और यही दोषी है। उसने मीडिया को आरोपी का वह मकान भी दिखाया जो उनकी झोंपड़ी के ही सामने है। पुलिस द्वारा इस ब्लाइंड मर्डर की गुत्थी सुलझाने में उसे भले ही लंबा वक्त लगा हो मगर पुलिस ने आरोपी से पूछताछ वारदात की सूचना मिलने के एक घंटे बाद ही शुरू कर दी थी।

संघर्ष समिति आज कर सकती है आंदोलन का आगाज
गुड़िया न्याय संघर्ष समिति के तत्वाधान में उकलाना की पुरानी अनाज मंडी में आसपास की खापें, राजनीतिक, सामाजिक व धार्मिक संगठन एकत्रित होंगे। यहां पर सरकार से इस गुड़िया कांड की सीबीआई जांच करवाने की मांग की जाएगी। अगर पुलिस संघर्ष समिति को अब तक की हुई कार्यवाही को लेकर संतुष्ट नहीं करवा पाई तो समिति द्वारा आज से आंदोलन का आगाज किया जाएगा। इसको लेकर संघर्ष समिति के सदस्यों की ड्यूटी लगाई गई हैं और सभी तरह की तैयारियां की गई हैं।
 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन