फोर्टिस अस्पताल मामला: न हो गुरुग्राम जैसी घटना, डॉक्टरों ने PM मोदी को लिखा पत्र

  • फोर्टिस अस्पताल मामला: न हो गुरुग्राम जैसी घटना, डॉक्टरों ने PM मोदी को लिखा पत्र
You Are HereNational
Wednesday, November 22, 2017-2:05 PM

गुरुग्राम(ब्यूरो): गुरुग्राम के मशहूर फोर्टिस अस्पताल में डेंगू इलाज के लिए जहां मृतक के परिजनों को 18 लाख रुपए देने पड़े वहीं डॉक्टरों के एक समूह ने प्रधानंमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिख स्वास्थ्य देखभाल अौर इलाज को अधिक सस्ता एवं किफायती बनाने के लिए उनके तत्काल हस्तक्षेप की मांग की है। इसके साथ ही डॉक्टरों ने चिकित्सा भ्रष्टाचार को खत्म करने की मांग भी की है। 

दरअसल गुरुग्राम के फोर्टिस अस्पताल में डेंगू के इलाज के लिए बच्ची के माता-पिता से 18 लाख रुपए लेने की घटना से चारों अौर लोगों में रोष है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा अौर हरियाणा सरकार ने भी इस मामले में जांच के आदेश दिए हैं। वहीं एथिकल हेल्थकेयर के डॉक्टरों के समूह ने पीएम मोदी को पत्र लिखखर इलाज को अधिक सस्ता बनाने के लिए जल्दी हस्तक्षेप करने की मांग की है। दवाओं और चिकित्सा उपकरणों में लगे मार्जिन ने स्वास्थ्य सेवा की लागत को बढ़ा दिया है।फोर्टिस अस्पताल में सात साल की लड़की के माता-पिता को डॉक्टरों द्वारा प्रयोग किए 2700 दस्ताने और 660 इंजेक्शन के लिए 18 लाख का बिल देना पड़ा था। इसके बावजूद भी उनकी बच्ची नहीं बच पाई।

गुरुग्राम जैसी घटना दोबारा न हो इससे बचने के लिए डॉक्टरों के समूह ने सरकार से इस फैसले पर जल्दी कदम उठाने की मांग की है। प्रधानमंत्री को संभोंधित करते हुए आग्रह किया है कि स्वास्थ्य सेवा को अौर किफायती बनाने की जरुरत है। दवाइयों की कीमतों को कम किया जाना चाहिए। मेडिकल पेशा मुनाफा कारोबार में बदल गया है इसे रोकने के लिए जरूरी कदम उठाने की कोशिश करनी चाहिए। 

हालांकि मोदी सरकार ने इस साल हृदय स्टेंट और आर्थोपेडिक मेडिकल उपकरणों की कीमतों में कमी की है। अब मोदी सरकार से डॉक्टरों ने मेडिकल सुविधाअों को सस्ता अौर मेडिकल भ्रष्टाचार को कम करने की मांग की है। 
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!