पंचकूला में हिंसा रोकने में नाकाम रही सरकार, लोगों ने गृहमंत्रालय को दी शिकायत

  • पंचकूला में हिंसा रोकने में नाकाम रही सरकार, लोगों ने गृहमंत्रालय को दी शिकायत
You Are HereLatest News
Friday, January 12, 2018-1:17 PM

पंचकूला(चंद्रशेखर धरणी): 25 अगस्त को साध्वी यौन शोषण मामले में गुरमीत राम रहीम को दोषी करार देने के बाद पंचकूला में हुई हिंसा और आगजनी को रोकने में नाकाम रही पुलिस और सरकार के खिलाफ लोगोें ने शिकायत केंद्रीय गृह मंत्रालय को भेजी है। इस मामले में सरकार की नाकामी पर जवाब तलबी और पुलिस प्रशासन के बडे़ अधिकारियों पर गाज गिर सकती है। इन शिकायतों के बाद से अफसरों की नींदे उड़ी हुई हैं।

पंचकूला में भारी पुलिस प्रशासन के बावजूद हुई हिंसा से गुस्साए लोगोें ने पुलिस प्रशासन और अधिकारियों की नींद खराब कर दी है। मिनस्ट्री ऑफ ग्रीवांस ने गृह मंत्रायल को इस बारे में शिकायत करते हुए कहा कि 22 अगस्त से 25 अगस्त के बीच डेरा समर्थकों को पंचकूला में घुसने, दंगा होने को लेकर पंचकूला से शिकायत आई है।जिसमें लोगों ने सीबीआई जांच कराने की मांग की है। इस मामले की गंभीरता को देखते हुए मंत्रालय सरकार से जवाब तलब कर सकता है। 

पंचकूला स्थित स्पेशल इन्वेस्टिगेशन ब्यूरो की कोर्ट में 25 अगस्त को साध्वी यौन शोषण मामले में राम रहीम को दोषी करार दिया गया था। पंचकूला के अंदर भारी संख्या में डेरा फॉलोअर्स पहुंचे और धारा 144 का उल्लंघन करते हुए हिंसा फैलाई, साथ ही पब्लिक प्रॉपर्टी को नुकसान पहुंचाया। इस भीषण दंगे के बाद से पंचकूला के लोग दहशत में आ गए। 

लोगों ने इस हिंसा का जिम्मेदार हरियाणा सरकार और पुलिस अधिकारियों को ठहराया हैं। क्योंकि इस मामले में कर्फ्यू शाम को 5 बजे लगाया गया जोकि दोपहर को लगाया जाना चाहिए था। इसलिए पुलिस प्रशासन पर ये सवाल उठना जायज है।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन