रेलवे सुरक्षा कमिश्नर पहुंचे नरवाना, किया रेल ट्रैक का निरीक्षण

  • रेलवे सुरक्षा कमिश्नर पहुंचे नरवाना, किया रेल ट्रैक का निरीक्षण
You Are HereJind
Wednesday, January 10, 2018-12:32 PM

नरवाना(ब्यूरो):नरवाना से भटिंडा रेलमार्ग पर कटारसिंहवाला रेलवे स्टेशन तक रेल ट्रैक के विद्युतीकरण का कार्य पूरा होने के बाद मंगलवार को रेलवे के सुरक्षा कमिश्नर शैलेश कुमार पाठक नरवाना पहुंचे। उनके साथ रेलवे के डी.आर.एम. आर.एन.सिंह सहित अन्य आला अधिकारी भी मौजूद रहे। रेलवे सुरक्षा कमिश्नर शैलेश कुमार पाठक रेलवे के अन्य आला अधिकारियों के साथ रेल ट्रैक का निरीक्षण करने के लिए एक विशेष ट्रेन से नरवाना पहुंचे।

सबसे पहले रेलवे सुरक्षा कमिश्नर ने नरवाना रेलवे स्टेशन का दौरा कर निरीक्षण कार्य पूरा किया। रेलवे सुरक्षा कमिश्नर यहां बनाए गए पैनल रूम में पहुंचे और यहां स्टेशन मास्टर व अन्य रेलवे कर्मचारियों से बातचीत कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने रेलवे अधिकारियों व कर्मचारियों को कहा कि वे अपनी ड्यूटी व रेलवे सुरक्षा के लिए लागू नियमों में किसी तरह की कोताही नहीं बरतें। शैलेश पाठक ने कहा कि यात्रियों की सुरक्षा हमारा सबसे पहला कर्तव्य है और इस मामले में किसी भी तरह की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

पत्रकारों से बातचीत करते हुए रेलवे सुरक्षा कमिश्नर शैलेश कुमार पाठक ने कहा कि इस वर्ष रेल दुर्घटनाओं में करीब 39 प्रतिशत की कमी आई है। उन्होंने बताया कि पिछले वर्ष जहां 95 रेल दुर्घटनाएं हुई थीं, इस वर्ष केवल 55 रेल दुर्घटनाएं हुई हैं। कोहरे के कारण ट्रेनों के कई-कई घंटे लेट होने बारे पूछे गए सवाल के जवाब में कमिश्नर ने कहा कि कोहरे का असर कम नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि कोहरे से बचाव का कोई मार्ग तो अभी तक अमरीका भी नहीं खोज सका है।

उन्होंने कहा कि रेलवे कोहरे के समय सिग्नल सिस्टम को बेहतर करने के लिए यूरोप की एक तकनीक पर कार्य कर रहा है लेकिन इस तकनीक को लागू करने में अभी समय लगेगा। रेलवे सुरक्षा कमिश्नर ने कहा कि पूरे देश में रेल ट्रैक के विद्युतीकरण का कार्य तेजी से चल रहा है और अगले 5 वर्षों में 30 हजार कि.मी. रेल ट्रैक के विद्युतीकरण का कार्य पूरा कर लिया जाएगा।

इस अवसर पर डी.आर.एम. आर.एन. सिंह ने बताया कि रोहतक से भटिंडा तक करीब 250 कि.मी. लंबे रेल ट्रैक के विद्युतीकरण के कार्य पर करीब 300 करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं। उन्होंने बताया कि फिलहाल कटारसिंहवाला रेलवे स्टेशन तक विद्युतीकरण का कार्य पूरा किया जा चुका है और मंगलवार को नरवाना से कटारसिंहवाला रेलवे स्टेशन तक करीब 130 किलोमीटर रेल ट्रैक के निरीक्षण का कार्य किया जाएगा। उन्होंने बताया कि अगले 2 महीनों में मार्च तक इस ट्रैक के विद्युतीकरण का कार्य पूरी तरह पूरा हो जाएगा और इस ट्रैक पर इलैक्टिक ट्रेनों का आवागमन शुरू हो जाएगा।
 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन