यशपाल मलिक का बड़ा बयान, 2 मंत्री सरकार को अस्थिर कर खुद बनना चाहते हैं CM

  • यशपाल मलिक का बड़ा बयान, 2 मंत्री सरकार को अस्थिर कर खुद बनना चाहते हैं CM
You Are HereHaryana
Tuesday, August 22, 2017-7:30 AM

झज्जर (संजीत खन्ना):भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष यशपाल मलिक ने झज्जर में मीडिया को बताया कि हरियाणा में दंगे करवाकर भाजपा सरकार को अस्थिर करने की साजिश हो रही है और यह कोई और नहीं बल्कि प्रदेश के वह 2 जाट मंत्री कर रहे हैं, जोकि स्वयं प्रदेश का मुख्यमंत्री बनना चाहते हैं। मलिक ने अपने ऊपर हुए हमले के लिए भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला को जिम्मेदार ठहराया और कहा कि इस पूरे प्रकरण के पीछे बराला का हाथ है। उन्होंने कहा कि आई.पी.सी. की धारा 307 के आरोपी सूबे सिंह समैण को साथ लेकर हरियाणा सरकार के 2 जाट मंत्री घूम रहे हैं। इनका मकसद क्या है इसका भी खुलासा जल्द ही किया जाएगा। 

6 मांगें पूरी होने का मिला आश्वासन
मलिक ने मीडिया से मुखातिब होते हुए पिछले दिनों दिल्ली में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के साथ हुई मुलाकात का भी खुलासा किया। उन्होंने कहा कि शाह ने जाट समाज की 6 मांगें पूरी करने का आश्वासन दिया है। शाह के साथ मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से भी उनकी मुलाकात हुई है। जाट समाज को आरक्षण के साथ जेलों में बंद युवाओं की रिहाई की मांग पर भी सरकार काम कर रही है। एक व्यक्ति विशेष के मुकद्दमे के कारण जाट समाज के काफी युवा जेलों में बंद हैं। उस मसले पर 27 की भाईचारा रैली में कोई फैसला लिया जाएगा। 

रैली में होगी सुरक्षा, सेवा, पार्किंग की व्यवस्था
मलिक ने बताया कि भाईचारा रैली में सुरक्षा, सेवा, पार्किंग और यातायात व्यवस्था बनाए रखने के लिए जाट समाज के वाङ्क्षलटियर लगाए गए हैं, जिन्हें बकायदा आई कार्ड भी दिए जाएंगे। यशपाल मलिक ने बताया कि भाईचारा सम्मेलन के जरिए समाज को ये संदेश भी दिया जाएगा कि जाट समाज के साथ हरियाणा की 36 बिरादरी है। साथ ही सरकार को भी यह संदेश दिया जाना है कि जाट समाज अपनी 6 मांगों को पूरा करवाने के लिए हर संघर्ष को तैयार है। 
 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन