हर रोज सड़कों पर मर रहा गौवंश, गोहाना में बनाई गई 2 नंदीशाला

  • हर रोज सड़कों पर मर रहा गौवंश, गोहाना में बनाई गई 2 नंदीशाला
You Are HereHaryana
Saturday, January 13, 2018-4:27 PM

गोहाना(सुनील जिंदल): सोनीपत में गोहाना के गांव ठसका में स्थित नंदी शाला में गायों के लिए कोई सुविधा नहीं है। जिसकी वजह से यहां हर रोज चार से पांच गौवंशों की मौत हो रही है। वहीं गायों की इस दुर्दशा को देखते हुए अौर सड़कों पर गौवंशों की मौत न हो इसके लिए गोहाना में दो नंदीशाला बनाई गई हैं।
PunjabKesari
वहीं, गौवंशों की मौत को लेकर डॉ. धर्मवीर नांदल ने कहा कि अभी तक मेरी संझान में ये मामला नहीं आया है। इस बारे में प्रशासन के अधिकारियों से बात करके उनका जवाब मांगा जाएगा। अगर वहां किसी प्रकार की सुविधा की कमी है तो उसके लिए वो खुद सरकार से बात करके उस कमी को दूर करवाने की पूरी कोशिश करेंगे। साथ ही उन्होंने बताया कि एक बार वो नंदी शाला गए भी थे, उस वक्त उन्हें वहां कई कमियां दिखाई दी थी।
 PunjabKesari
गौरतलब है कि गोहाना शहर को केटल फ्री बनने के लिए पिछले साल नवम्बर व दिसंबर महीने में गोहाना नगर परिषद विभाग के अधिकारियों ने एक अभियान चलाया था। जिसमें सड़कों पर घूम रही आवारा गांव व नंदी को पकड़ कर नंदी शाला में छोड़ने का काम किया गया था। उस समय नंदी शाला में गाय व नंदी की संख्या 500 के करीब थी लेकिन अब ये आकड़ा घटकर 350 हो गया है।

नंदी शाला में पशुओं के लिए कोई सुविधा नहीं है। उनके लिए चारे से लेकर ठंड से बचने के लिए सेड़ तक की भी व्यवस्था नहीं है। जिसके चलते यहां कुछ गाय भूख प्यास व कुछ ठंड के चलते मर जाती हैं।


 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन