बच्चों के साथ खेल रहे फौजी के सीने में दागी 14 गोलियां, मासूम भी घायल

  • बच्चों के साथ खेल रहे फौजी के सीने में दागी 14 गोलियां, मासूम भी घायल
You Are HereHaryana
Saturday, November 18, 2017-10:19 AM

झज्जर(ब्यूरो): हरियाणा के झज्जर जिले के बहराना गांव में बीती शाम छुट्टी पर घर आए फौजी की कार सवार युवकों ने ताबड़ तोड़ गोलियां बरसाकर हत्या कर दी। सैनिक जोंगेद्र अपने दो मासूम बच्चों के साथ घर के बाहर उन्हें खिला रहा था। एकाएक हथियारबंद हमलावरों को देख जोगेंद्र को संभालने का मौका नहीं मिला। गनीमत यह रही कि हमलावर का टारगेट सिर्फ जोगेंद्र ही था, लिहाजा उसके मासूम बच्चों को कुछ नहीं हुआ। हालांकि उसकी डेढ़ साल की बेटी नितिका गोद में थी, उसकी जांघ में गोली लगी। इसका इलाज रोहतक पी.जी.आई. में चल रहा है। 

2 सप्ताह पहले छुट्टी लेकर आया था फौजी
जानकारी के अनुसार श्रीनगर के उधमपुर स्थित आर्डिनेंस में तैनात जोग्रेंद्र दो सप्ताह पहले ही छुट्टी लेकर घर आया था तभी अज्ञात हमलावरों ने पूरी प्लानिंग के साथ गोली मार हत्या कर दी। हमलावरों की संख्या 4 बताई जा रही है। गोलियों की आवाज सुनकर जब तक परिवार वाले बाहर आते तब तक हमलावर भाग चुके थे। जोगेंद्र बेटे हिमांशु और डेढ़ साल की बेटी नीतिका के साथ घूमने के लिए निकला था जब हमलावरों ने जोगेन्द्र पर हमला किया तो उस समय बेटी नीतिका गोद में थी और हिमांशु उंगली पकड़े हुए चल रहा था।

जोगेंद्र को 14  गोलियां लगी
जोगेंद्र का बड़ा भाई राजपाल उर्फ सोनू पिछले एक साल से जेल में है। सोनू क्रिमिनल केस में जेल में बंद है। अब पुलिस जोगेंद्र पर हुए हमले को उसके भाई द्वारा की गई वारदात को लेकर भी जांच करेगी। फायरिंग के दौरान सभी गोलियां जोगेन्द्र को ही लगी और थोड़ी ही देर में वह खून से लथपथ होकर वहीं गली मेंं जा गिरा। जोगेन्द्र के शरीर पर 14 जगह गोलियों के निशान पुलिस को मिले हैं।

सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने एफ.एस.एल. की टीम को भी बुलवाया। टीम ने घटनास्थल से सबूत भी जुटाए है। मृतक जोगेन्द्र के पिता धर्मपाल की शिकायत पर अज्ञात हमलावरों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।


 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!