साध्वी ने किया खुलासा: 1 से 8 लाख तक होती थी रू-ब-रू नाइट्स की टिकट

  • साध्वी ने किया खुलासा: 1 से 8 लाख तक होती थी रू-ब-रू नाइट्स की टिकट
You Are HereHaryana
Wednesday, September 13, 2017-10:59 PM

सिरसा: डेरा सच्चा सौदा में 7 साल बिताने और गुरमीत राम रहीम की गोद ली हुई बेटी हनीप्रीत के घर नौकरानी का काम करने के बाद मैंने डेरा छोड़ दिया क्योंकि गुरमीत और हनीप्रीत के सच से मेरा सामना हो गया था। गुरमीत के गुंडों से अपनी जान बचाकर भागती फिर रही साध्वी ने कई सनसनीखेज खुलासे किए हैं। 

साध्वी ने बताया कि मैंने रू-ब-रू नाइट्स में भी सहयोग किया है। गुरमीत राम रहीम पूरी रात डांस करता था। रात भर में 4-5 बार कपड़े बदलता था। खुद गाता भी था, स्कूल के बच्चे भी डांस करते थे, इसमें टिकट लगती थी। टिकट 7 हजार से शुरू होती थी और जो जितना गुरमीत के पास बैठना चाहता था उतनी महंगी टिकट होती थी, जैसे 1 से 8 लाख तक। बोला तो यह जाता था कि यह पैसा गरीबों के इलाज, गरीबों के लिए घर वगैरह बनवाने के लिए इस्तेमाल होगा लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं होता था। गरीबों को ही रू-ब-रू के नाम पर लूटा जाता था। रू-ब-रू नाइट्स में तरह-तरह के डांस होते थे। 

साध्वी ने आरोप लगाया कि साल 2007 में जब सी.बी.आई. केस दर्ज हुआ तो गुरमीत राम रहीम ने उसके रहने का घर बदल दिया। गुरमीत को डर था कि वह कहीं मीडिया में इंटरव्यू न दे दे। पहले उसके रहने की जगह डेरे में लंगर के पास थी। किसी को मिलने की इजाजत नहीं दी जाती थी। उसने बताया कि मैं डेरे में तकरीबन एक साल हनीप्रीत के साथ रही। घर में उसका पति विश्वास और सास-ससुर रहते थे। हनीप्रीत मुझे आंटी बुलाती थी और मैं उसे दीदी। कई बार हनीप्रीत का उसकी सास से झगड़ा हुआ क्योंकि वह गुरमीत की गुफा में जाती थी। गुरमीत कहीं भी जाता था तो हनीप्रीत साथ जाती थी, पहले तो हनीप्रीत ठीक थी, गुरमीत ने ही उसके बाद उसके पति पर केस करवा दिया। 

साध्वी ने आरोप लगाया कि विपासना को सब पता है कि हनीप्रीत कहां है और डाक्टर नैन को भी मालूम है। विपासना ने ही हनीप्रीत को फोन किया था। उसने ही गुडग़ांव जाने के लिए गाड़ी भिजवाई थी।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You