Subscribe Now!

पानीपत रिफाइनरी ब्लास्ट मामला: दूसरे कर्मचारी की इलाज के दौरान मौत

  • पानीपत रिफाइनरी ब्लास्ट मामला: दूसरे कर्मचारी की इलाज के दौरान मौत
You Are HereHaryana
Tuesday, January 23, 2018-1:55 PM

पानीपत(अनिल कुमार): पानीपत स्थित रिफाइनरी एवं पेट्रो केमिकल कांपलेक्स में स्थित नैफ्था क्रेकर प्लांट के केटलिस्ट परिसर में हुए धमाके से एक युवक की मौत हो गई थी अौर पांच लोग घायल हो गए थे। घायलों को दिल्ली रेफर किया गया था। जिनमें से भानुजी प्रोडक्शन इंचार्ज की आज उपचार के दौरान मौत हो गई। अन्य घायल लोगों की इलाज किया जा रहा है। 

उल्लेखनीय है कि नेफ्था प्लांट के केटलिस्ट प्लांट में तेल शोधन के बचे हुए कचरे से प्लास्टिक दाना बनाया जाता है। प्लास्टिक दाना बनाने में प्रोपलीन नामक गैस का प्रयोग होता है। एक अधिकारी ने वॉल्व चेक करने लगा तो केमिकल लीक हो गया। जब ये केमिकल पानी के संपर्क में आया तो धमाका हो गया। जिसमें एक युवक की मौत अौर पांच लोग घायल हो गए थे। 

तीन महीने में तीसरा हादसा
पानीपत रिफाइनरी में तीन महीने में ये तीसरा हादसा था। इससे पहले 17 नवंबर 2017 को डीसीयू यूनिट में पाइप लाइन फट गई थी। जिसमें दो कर्मियों की मौत अौर दो गंभीर रुप से घायल हो गए थे। इसके बाद 20 दिसंबर 2017 को सल्फर प्लांट में वॉल्व लीक हो गया था। इसमें एक कर्मी झुलस गया था।

मृतक के परिजनों ने मुआवजे की मांग
पानीपत रिफाइनरी में धमाका इतना भयानक था कि कर्मचारी 300 मीटर दूर गिरे। हादसे के समय यूनिट में 12 लोग काम कर रहे थे। हादसे के बाद मृतक के परिजनों ने प्लांट को घेरकर धरना दिया अौर वे मृतक के परिवार के लिए एक करोड़ की राशि अौर नौकरी की मांग पर अड़े रहे।
 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन