Subscribe Now!

पंचायत का फैसला: हर घर से लिया जाएगा एक-एक रूपया जुर्माना, यह है वजह... (VIDEO)

You Are HereHaryana
Saturday, February 17, 2018-3:36 PM

झज्जर(प्रवीण धनखड़): पिछले माह 26 जनवरी के दिन झज्जर के गांव पाटौदा के खेल स्टेडियम में लगी राव तुलाराम की प्रतिमा को तोडऩे के मामले में गांव के लोगों ने एक अनोखा फैसला लिया है। इस फैसले के तहत गांव के राजपूत समाज के हर घर को जुर्माने के रूप में एक-एक रूपया देना होगा। हांलाकि प्रतिमा तोडऩे के इस मामले में पहले ही पुलिस राजपूत समाज के सहयोग से गांव के ही दो युवकों को गिरफ्तार कर चुकी है। लेकिन उसके बावजूद भी यादव समाज के लोगों को मानना था कि इस मामले में एक नहीं बल्कि कई लोगों का हाथ है।

PunjabKesari

अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए रविवार को गांव में क्षेत्र के करीब एक दर्जन गांवों की महापंचायत भी हो चुकी है। इस महापंचायत में जिला पुलिस प्रशासन को बाकि बचे आरोपियों की गिरफ्तारी केलिए तीन दिनों का अल्टीमेटम दिया गया था। लेकिन यह अवधि बीतने से पहले ही बुधवार को गांव की 36 बिरादरी की एक पंचायत गांव के खेल स्टेडियम में हुई। पंचायत में समाज के हर व्यक्ति ने भाग लिया।

PunjabKesari

पंचायत की अध्यक्षता गांव के बुजुर्ग जगत सिंह ने की। काफी देर तक चली मंत्रणा के दौरान राजपूत समाज के लोगों द्वारा इस मामले में समाज के युवाओं के संलिप्त होने पर माफी भी मांगी गई। लेकिन बाद में इस मामले में 11 सदस्यीय एक कमेटी का गठन किया गया। 11 सदस्यीय कमेटी ने काफी देर तक चली मंत्रणा के बाद अपना फैसला सुनाया। इस फैसले में राजपूत समाज के हर घर को एक रूपए जुर्माने के रूप में अदा करने का फैसला किया गया।

इसके लिए प्रतिमा का दोबारा से निर्माण व निर्माण में समाज के हर घर से चंदा राशि एकत्रित करने की घोषणा की गई। 11 सदस्यीय कमेटी का फैसला कमेटी में शामिल नरेंदर कौशिक द्वारा पढकऱ सुनाया गया। 

PunjabKesari

नरेंदर कौशिक ने बताया कि पंचायत का यह फैसला किसी समाज की भावना को आहत करने के लिए नहीं किया गया है। बल्कि यह फैसला इसलिए किया गया है ताकि पंचायत का फैसला भविष्य के लिए सबक बने और जो कोई ऐसा कार्य करने की सोच रखे उसके सामने इस फैसले का परिदृश्य पहले आ जाए और वह ऐसा घिनौना कार्य करने की हिम्मत न जुटा सके।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन