नवजात बच्ची मौत मामला: समझौता करवाने वाला हैडकांस्टेबल सस्पैंड

  • नवजात बच्ची मौत मामला: समझौता करवाने वाला हैडकांस्टेबल सस्पैंड
You Are HereHaryana
Wednesday, September 13, 2017-9:06 AM

रेवाड़ी (मोहिंदर भारती):दिल्ली रोड स्थित पूर्णनगर में हुई 5 दिन की नवजात बच्ची की मौत का अढ़ाई लाख रुपए में समझौता करवाने के मामले में उप पुलिस अधीक्षक ने जांच अधिकारी को सस्पैंड कर दिया। शहर के दिल्ली रोड स्थित राव अभय सिंह चौक के पास झुग्गी-झोंपड़ियों में अनेक अप्रवासी परिवार रहते हैं। इनमें से बब्बू की 5 दिन की नवजात बच्ची की 8 सितम्बर की रात को झोंपड़ी में भारी लकड़ी गिरने से मौत हो गई थी। इसके साथ लगती पूर्णनगर कालोनी की रात को ही बत्ती गुल हो गई। 

कॉलोनी के लोग झुग्गी-झोंपड़ियों के पास बने ट्रांसफार्मर को चैक करने के लिए जब वहां पहुंचे तो बब्बू के परिवार और झुग्गी-झोंपड़ियों की पैरवी करने वाले ठेकेदार कालू ने कालोनीवासियों पर आरोप लगाया कि उनकी बच्ची की मौत उस पर पैर रखे जाने के कारण हुई है और मामला थाने तक जा पहुंचा। जांचकर्ता अधिकारी ओमप्रकाश ने कहा कि मामला पुलिस अधीक्षक तक पहुंच चुका है और बेहतर होगा समझौता कर लो। बच्ची की मौत के लिए कालोनी के 5 लोगों को नामजद किया गया। आखिर में नामजद 5 लोगों ने 50-50 हजार रुपए देकर एकत्रित अढ़ाई लाख ठेकेदार कालू को थाने में ही दे दिए। कालोनिवासियों का आरोप है कि इस सौदेबाजी में एक पूर्व पार्षद भी शामिल है। ठेकेदार कालू ने बच्ची के पिता को डेढ़ लाख रुपए दिए और 1 लाख स्वयं ही रख लिए और भांडा फूटने पर फरार हो गया। 

‘जांच अधिकारी को को सस्पैंड किया’
डी.एस.पी. गजेंद्र कुमार ने कहा कि जांचकर्ता अधिकारी ओमप्रकाश को मंगलवार को सस्पैंड कर दिया गया है। उन्होंने इतनी बड़ी बात को आलाधिकारियों के संज्ञान में लाने की बजाय स्वयं ही फैसला करवा दिया। फरार ठेकेदार कालू को पकड़ने के लिए पुलिस की टीमें भेजी जा रही हैं। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You