हरियाणा की एक अौर बेटी ने किया प्रदेश का नाम रोशन, हॉकी चैंपियनशिप में जीता गोल्ड

  • हरियाणा की एक अौर बेटी ने किया प्रदेश का नाम रोशन, हॉकी चैंपियनशिप में जीता गोल्ड
You Are HereHaryana
Monday, November 20, 2017-6:08 PM

गोहाना(सुनील जिंदल): प्रदेश की बेटियां आए दिन अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपने प्रदेश की अलग से पहचान करवा रही हैं। दो दिन पहले हरियाणा की बेटी मानुषी छिल्लर ने विश्व की 118 प्रतिभागियों को पछाड़ कर भारत के लिए विश्व सुंदरी का खिताब जीतकर देश का नाम रोशन किया है। वहीं दूसरी अौर गोहाना के गांव गामड़ी की रहने वाली मोनिका मलिक ने हरियाणा की टीम में खेलते हुए पुणे में 14 से 19 नवंबर तक हाल ही में आयोजित हुई दूसरी सीनियर नेशनल हॉकी चैंपियनशिप में फाइनल में महाराष्ट्र को हराकर गोल्ड मेडल जीता। मेडल लेकर गांव में पहुंचने पर घर वालों ने मोनिका का मिठाई खिलाकर स्वागत किया। हालांकि गांव में दो मौत होने के कारण किसी तरह के समारोह का आयोजन नहीं किया गया।
PunjabKesari
रेलवे में नौकरी कर रही है मोनिका
मोनिका मलिक ने बताया कि वह इन दिनों मुंबई में रेलवे में नौकरी कर रही है। एक रेलवे विभाग ऐसा है जो खेल में आगे बढ़ रही प्रतिभाओं को रोजगार देने का काम कर रहा है। ऐसे में हरियाणा सरकार को चाहिए कि वे प्रतिभावान महिला खिलाड़ियों को प्रदेश में नौकरी दे जिससे वे अपने परिवार के नजदीक रहकर अपना खेल और बेहतर खेल सकें। 

कॉमनवेल्थ गेम में गोल्ड जीतना मोनिका का अगला लक्ष्य
मोनिका का अगला लक्ष्य अब आस्ट्रेलिया में आगामी साल में अप्रैल माह में होने वाले कॉमनवेल्थ गेम में अपनी जीत सुनिश्चित करना है। उसके लिए वे इसी महीने 25 नवंबर से बैंगलोर कैंप में अपनी प्रैक्टिस करेगी। हालांकि अब भी वे बैंगलोर में ही अपनी प्रैक्टिस करती हैं। इसके बाद वर्ल्ड कप का हिस्सा बनने के लिए भी वह मेहनत करने में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती। 
PunjabKesari
चंडीगढ़ पुलिस में कार्यरत हैं मोनिका के पिता
मोनिका के पिता तकदीर मलिक चंडीगढ़ पुलिस में कार्यरत हैं तथा वे उसका हमेशा हौसला बढ़ाते रहते हैं। विजेता खिलाड़ी ने मिस वर्ल्ड बनी मानुषी छिल्लर की जीत पर अपनी बधाई देते हुए कहा कि मानुषी ने जो अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर भारत को एक अलग पहचान दिलाई वह हम सब लड़कियों के लिए प्रेरणादायक है। अब हरियाणा की छोरियों का हर जगह डंका बज रहा है मगर समाज को भी हमारे प्रति नजरिया बदलना होगा। 

बचपन से खेलों में थी रुचि
मोनिका के परिजनों का कहना है कि वह इसी तरह खेल कर अपना अौर गांव के साथ देश का नाम रोशन करती रहे। मोनिका को बचपन से ही स्पोर्टस में रुचि थी अौर घर वाले भी चाहते थे कि वो खेलों में आगे आकर उनका नाम रोशन करे। मोनिका का भाई भीरेसलिंग करते हैं।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!