Subscribe Now!

मेदांता अस्पताल पर लापरवाही का एक और आरोप, 3 दिन के इलाज में वसूले 6 लाख

  • मेदांता अस्पताल पर लापरवाही का एक और आरोप, 3 दिन के इलाज में वसूले 6 लाख
You Are HereHaryana
Tuesday, January 16, 2018-8:28 AM

गुरुग्राम(संजय): मेदांता अस्पताल में शौर्य की मौत का मामला अभी थमा भी नहीं था कि अस्पताल पर लापरवाही का एक और मामला सामने आया है। ताजा मामला सैक्टर-14 निवासी एक डा. दम्पति का है जिसने अस्पताल पर मरीज की सही जांच न करने व बेवजह भर्ती कर पैसे ऐंठने के आरोप लगाए हैं। पीड़ित ने सी.एम. विंडो व स्वास्थ्य विभाग में शिकायत दर्ज कराई है। विभाग ने 5 सदस्यों की टीम गठित कर जांच का आश्वासन दिया है।

3 दिन के इलाज में वसूले 6 लाख
जानकारी के मुताबिक सैक्टर-14 निवासी डा. राजेश जैन पत्नी रेनु जैन के साथ रहते हैं। कुछ दिनों से रेनु की तबीयत खराब चल रही थी। वह उसे 8 नवम्बर को सैक्टर-38 स्थित मेदांता मैडीसिटी अस्पताल ले गए। आरोपों के मुताबिक वहां रेनु को जांच व इलाज के नाम पर 8 से 11 नवम्बर तक भर्ती रखा गया। इस दौरान महज 3 दिन में उनसे तकरीबन साढ़े 6 लाख रुपए बतौर इलाज के नाम पर वसूल गए। इतना ही नहीं उनके पास मौजूद हैल्थ पॉलिसी को भी अस्पताल प्रबंधन ने लेने से इन्कार कर दिया।

जांच करवाने के बाद भी बीमारी का पता नहीं
डा. राजेश जैन ने बताया कि 3 दिन तक जांच करवा ली लेकिन इसके बाद भी बीमारी का पता नहीं लगा। मरीज की बीमारी पता नहीं चलने पर डा. जैन मरीज की छुट्टी करवाकर शहर में स्थित एक अन्य अस्पताल चले गए, जहां पता चला कि उन्हें स्पाइन इन्फैक्शन है और उनका ऑप्रेशन करना होगा जिसके बाद चिकित्सकों ने मरीज का ऑप्रेशन कर उनकी रीढ़ में जमा पस (मवाद) को निकाला। कई दिन तक चले इलाज के बाद आखिरकार मरीज को आराम हुआ।

सिविल अस्पताल ड़ॉ. प्रदीप शर्मा का कहना है कि पीड़ित के बयान पर मामले की शिकायत दर्ज की है। 5 सदस्यों की टीम गठित कर जांच करवाई जाएगी। जांच के बाद ही पता लग सकेगा दोष आखिर किसका है।


 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन