सरकारी फाइलों में फंसा शहीद मेजर सतीश दहिया का सम्मान, एक भी घोषणा नहीं हुई पूरी

You Are HereHaryana
Tuesday, April 18, 2017-4:01 PM

महेंद्रगढ़ (मोहिंदर भारती):महेंद्रगढ़ जिले के गांव बनिहाड़ी की माटी का लाल शहीद मैजर सतीश दहिया जम्मू कश्मीर में दुश्मनों को मौत के घाट उतारते हुए वीर गति को प्राप्त ​हुअा​। उनकी इस शहादत को करीब दो महीने बीत चुके हैं। उनके परिवार को ढांढस बंधाने के लिए बड़े-बड़े दिगज्जों सहित प्रदेश के मुखिया मनोहर लाल खटटर पहुंचे थे। शहीद के घर पहुंचकर उनके बच्चों को सांत्वना देकर उनका हौसला बढ़ाया था​​। लेकिन आज पुरे दो महीने बीतने के बाद भी शहीद की वीरांगना मुफलिसी की जिंदगी गुजारने को मजबूर है। 

गत 25 फरवरी 2017 को गांव बनिहाड़ी में शहीद मेजर सतीश दहिया की श्रदांजलि सभा में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खटटर ने शहीद की विधवा को 50 लाख की सहायता राशि, बनिहाड़ि गांव में बने सरकारी कॉलेज का नाम शहीद सतीश दहिया के नाम पर करने, शहीद की पत्नी को सरकारी नौकरी के साथ ही गांव के सड़क मार्ग को भी शहीद के नाम पर करने की घोषणा की थी। लेकिन आज तक उनके सरकार की और से कुछ भी नहीं मिला।​ शहीद का परिवार इस वक्त मुश्किलों से घीरा हुआ है लेकिन दो महीने बीतने के बावजूद भी सरकारी घोषणाओं से वंचित है​।​

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You