जाट महापंचायत का बड़ा एेलान, 17 दिसंबर को कलायत में होगी महारैली

  • जाट महापंचायत का बड़ा एेलान, 17 दिसंबर को कलायत में होगी महारैली
You Are HereFatehabad
Saturday, October 21, 2017-4:13 PM

टोहाना(सुशील सिंगला): जाट आरक्षण को लेकर जाट नेता सूबे सिंह समैण की अौर से रतिया रोड स्थित शगुन मैरिज पैलिस में एक महापंचायत का आयोजन किया गया। जिसमें प्रदेश भर में अनेक जिलों से जाट प्रतिनिधियों ने भाग लिया। हजारों की तादाद में पंहुचे जाट नेताओं ने सूबे सिंह समैण का समर्थन करते हुए उनके नेतृत्व में रैली करने की रणनीति बनाई। बैठक के दौरान कई अहम फैसले लिए गए तथा यशपाल मलिक पर सरकार से मिलीभगत करने के आरोप लगाए। 
PunjabKesari
इस दौरान सूबे सिंह ने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार यशपाल मलिक को अपने इशारे पर नचा रही है कभी उसे आंदोलन के लिए खड़ा करती है कभी उसे बैठा देती है। मलिक हरियाणा के जाटों को बहकाता था कि वो यूपी में भाजपा की कब्र खोदकर आया है लेकिन मलिक ने यूपी में अमित शाह के सामने घुटने टेक दिए। जब भाजपा जीत गई तो भाजपा के समर्थन की बात कहकर मलिक ने जाट समुदाय के लोगों को बहकाया है। 
PunjabKesari
सूबे सिंह ने कहा कि यश्पाल मलिक ने जब आंदोलन जसिया में शुरू किया था तो कहा था कि आरक्षण के दौरान जेल में गए युवा वापिस आएंगे और वे ही आंदोलन समाप्ति की घोषणा करेंगे लेकिन 7 माह बीत जाने के बाद भी मलिक कुछ नहीं कर पाया। जिसके बाद उसने सरकार से बात की ओर धरने उठा लिए। सूबे सिंह ने कहा कि अब जाट समुदाय के लोग समझदार हो गए हैं वे दोबारा किसी ठग के विश्वास में नहीं आएंगे। सरकार यश्पाल मलिक को इशारा करके आंदोलन शुरू करवाती है ताकि जाट और नॉन जाट को बांटा जा सके। 

पत्रकारों से बातचीत में सूबे सिंह ने कहा कि अब वे आरक्षण की लड़ाई को बडे स्तर पर शुरू करेंगे। जिसको लेकर रणनीति तैयार कर ली गई है। सिंह ने कहा कि 17 दिसंबर को कैथल जिले के कलायत में महारैली बुलाई जाएगी। जिसके बाद जींद में देश भर के जाट नेताओं की महासम्मेलन बुलाने के बाद संघर्ष का ऐलान किया जाएगा। जिसके बाद ऐसा आंदोलन शुरू होगा कि देश व प्रदेश की सरकारें सोचने पर मजबूर हो जाएगी कि जाट समुदाय का हक उन्हें दे देना चाहिए। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You