Subscribe Now!

UPDATE: हादसे में जाट नेता ओमप्रकाश मान का निधन

  • UPDATE: हादसे में जाट नेता ओमप्रकाश मान का निधन
You Are HereHaryana
Tuesday, January 23, 2018-11:05 PM

भिवानी(अशोक भारद्वाज): भाजपा के प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य एवं जाट नेता ओमप्रकाश मान का निधन एक सड़क हादसे में हो गया। घटना महम रोड की है, जब खाप नेता ओमप्रकाश मान सड़क पार कर रहे थे तभी अचानक एक तेज गति से आ रहे ट्रक ने टक्कर मार दी, जिससे उनकी मौत हो गई। ओमप्रकाश मान अखिल भारतीय जाट महासभा के प्रदेश अध्यक्ष और खाप प्रवक्ता भी थे।

जानकारी के मुताबिक, शाम करीब करीब आठ बजे ओमप्रकाश मान महम रोड स्थित अपने परिचित ईश्वर दत्त शर्मा के आवास पर उनका हाल जानने के लिए गए थे। वहां से वापिस गाड़ी में सवार होने के लिए जब वे रोड पार करने लगे तो महम की तरफ से आ रहे एक तेज गति ट्रक ने उन्हें टक्कर मार दी, जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई।

मान की मौत की खबर शहर में आग की तरह फैल गई। लोग भिवानी के नागरिक अस्पताल की और दौड़े आए। हरियाणा युवा शांतिसेना प्रमुख एवं भिवानी महापंचायत के अध्यक्ष संपूर्ण सिंह ने मान के निधन को अपूर्णीय क्षति करार देते हुए कहा कि मान के निधन से उन्हें व्यक्तिगत आघात लगा है।

लंबे अर्से तक जाटों के आरक्षण की लड़ाई लडऩे वाले नेता अखिल भारतीय जाट महासभा के प्रदेशाध्यक्ष ओमप्रकाश मान ही थे। मान के छोटे भाई एवं पार्षद ईश्वर मान के अनुसार ओमप्रकाश मान सात भाइयों में सबसे बड़े थे तथा हर पार्टी ने उन्हें धोखा दिया तो वे बीजेपी में आए थे। मान अपने पीछे सात पुत्रों व एक पुत्री से भरा पूरा परिवार छोड़ गए। भिवानी महेन्द्रगढ़ के सांसद धर्मवीर सिंह ने भी इसे व्यक्तिगत क्षति बताया तो भिवानी के विधायक घनश्यामदास सर्राफ ने भी इसे अपूर्णीय क्षति करार दिया।

वहीं थाना सिविल लाइन प्रभारी अजीत सिंह ने बताया कि ट्रक की चपेट में आने से मान की मौत हुई है, ट्रक चालक ट्रक सहित मौके से फरार हो गया।

बता दें कि ओमप्रकाश मान कांग्रेस के भिवानी जिलाध्यक्ष भी रहे तथा लोकदल में भी रहे वहीं मौजूदा समय वे बीजेपी के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य थे। मान ने मुंढाल हलके से बीजेपी की टिकट पर चुनाव लड़ा तो लोहारू हलके से भी उन्हें पार्टी ने टिकट दी थी मगर उन्होंने भिवानी से निर्दलीय चुनाव लड़ा था। इससे पूर्व मान बीजेपी सहकारिता प्रकोष्ठ के प्रदेशाध्यक्ष भी रहे व किसान नेता के रूप में प्रसिद्ध थे। ओमप्रकाश मान उन जाट एवं खाप नेताओं में शुमार थे जिन्होंने प्रदेश में जाट आंदोलन की शुरूआत की थी।

मान उन खाप नेताओं में भी थे जिन्होंने जाट समुदाय के आरक्षण की मांग को लेकर पीएम मोदी व सीएम तक बार-बार आवाज बुलंद की। वे खापों के प्रवक्ता थे तथा सामाजिक तौर पर भी समाज में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ मुहिम को उन्होंने चलाया था। मान के निधन को राजनीतिज्ञों के लिए बड़ी क्षति माना जा रहा है।

ओमप्रकाश मान ने अखिल भारतीय जाट महासभा के बैनर तले ना केवल हरियाणा बल्कि पंजाब, राजस्थान, यूपी व दिल्ली में भी जाट आरक्षण की आवाज बुलंद की व शांतिपूर्ण तरीके से आंदोलनों में भाग लेते रहे। मान ने कभी भी रेलवे ट्रेक या सड़क मार्ग बंद कर विरोध जताने की वकालत नहीं की बल्कि हर मंच पर जाट समुदाय की आवाज मुखर करते रहे।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन