राई स्कूल मामले में विज ने वित्त मंत्री को लिया आड़े हाथ, कहा- कैप्टन की क्यों है दिलचस्पी

  • राई स्कूल मामले में विज ने वित्त मंत्री को लिया आड़े हाथ, कहा- कैप्टन की क्यों है दिलचस्पी
You Are HereHaryana
Saturday, May 20, 2017-7:53 AM

चंडीगढ़ (पांडेय):सोनीपत का राई स्पोर्टस स्कूल अब सियासत का अखाड़ा बन गया है। स्कूल के कथित घोटाले में अब खट्टर सरकार के खेल मंत्री अनिल विज और वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु खुलकर आमने-सामने आ गए हैं। खेल मंत्री ने अपरोक्ष तौर से वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु पर निशाना साधते हुए कहा कि मेरे महकमे में बेवजह किसी का दखल बर्दाश्त नहीं होगा। विज यही नहीं रूके, उन्होंने यह भी कह दिया कि उनके आदेशों को रोकना आसान नहीं होता है। विज ने जहां वित्त विभाग की ऑडिट टीम की कार्यशैली पर सवाल खड़े कर दिए वहीं उन्होंने वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु को भी अपने विभाग तक सीमित रहने की नसीहत दे डाली। 
PunjabKesari
राई स्कूल में कैप्टन की क्यों है दिलचस्पी:विज
खेल मंत्री अनिल विज ने अपरोक्ष तौर से कहा कि आखिर प्रदेश भर में सिर्फ राई स्पोर्टस स्कूल मामले में ही वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु की क्यों दिलचस्पी है? विज ने जांच रिपोर्ट मीडिया में लीक होने पर सवाल उठाते हुए कहा कि जिस समय ऑडिट टीम को राई स्कूल में भेजा गया तो उन्हें इसकी सूचना नहीं दी गई। विज ने सीधे तौर पर कहा की किसी भी विभाग की ऑडिट करवाना वित्त मंत्री का अधिकार क्षेत्र है लेकिन उनका यह काम नहीं है कि ऑडिट रिपोर्ट को मीडिया में लीक कर दें।
PunjabKesari
विज और भारती के समर्थन में उतरे सांसद कौशिक
सोनीपत के सांसद रमेश कौशिक भी इस विवाद में आगे आ गए हैं। कौशिक ने कहा की राई की निदेशक भारती अरोड़ा के नेतृत्व में स्कूल में लगातार सुधारात्मक कार्य हुए है। उन्होंने कहा कि राई स्कूल का सामान खरीद घोटाला पिछली कांग्रेस सरकार की देन है और वर्तमान सरकार के कार्यकाल में पूर्ण पारदर्शिता के साथ स्कूल में कार्य हुए है। इस मामले में सरकार जांच करवा रही है और जांच के बाद यह स्पष्ट हो जाएगा कि स्कूल में जितने भी घोटाले हुए हैं वह तत्कालीन कांग्रेस की सरकार के दौरान ही हुए है। सांसद ने कहा कि खेल मंत्री अनिल विज एक ईमानदार नेता है।
PunjabKesari
विज ने डी.जी.पी. को भेजा कड़ा पत्र
राई स्कूल मामले में कागजात खुर्द-बुर्द करने के आरोपों में घिरी ऑडिट टीम के खिलाफ मुकद्दमा दर्ज नहीं होने पर विज ने अब डी.जी.पी. बी.एस. संधू को कड़ा पत्र भेजा है। भेजे पत्र में विज ने डी.जी.पी. से कहा कि आखिर मुकद्दमा दर्ज नहीं करने वाले अफसरों पर क्यों कार्रवाई नहीं की गई। विज ने डी.जी.पी. को भेजे पत्र में पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठाते हुए कहा कि आखिर ऐसे गंभीर मामलों पर पुलिस चुप क्यों है?

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You