किसान की आय 1 लाख रुपए प्रति एकड़ करना सरकार का सपना : धनखड़

  • किसान की आय 1 लाख रुपए प्रति एकड़ करना सरकार का सपना : धनखड़
You Are HereHaryana
Thursday, September 14, 2017-3:14 PM

कुरुक्षेत्र(रणदीप रोड): कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने कहा कि प्रदेश के हर किसान की आय प्रति एकड़ 1 लाख रुपए पहुंचाना राज्य सरकार का सपना है। इस सपने को पूरा करने के लिए दूध का उत्पादन बढ़ाकर देश में प्रथम स्थान का राज्य बनाने, दिल्ली के 26 हजार करोड़ के बाजार पर प्रदेश के किसानों की खाद्य सामग्री पहुंचाकर कब्जा करने जैसी अनेक योजनाओं को अमलीजामा पहनाएगी। धनखड़ ने कुरुक्षेत्र की नई अनाजमंडी में किसान जमावड़ा कार्यक्रम में कहा कि हरियाणा के किसानों और खेती के लिए सरकार ने ठोस योजनाएं लागू की हैं। किसान को जोखिम फ्री बनाने के अलावा बागवानी, पैरी अर्बन एग्रीकल्चर, हर खेत को पानी, जैविक खेती सहित अनेक योजनाओं से किसान आधुनिक खेती के साथ आगे बढ़ रहा है। किसान की आय वर्ष 2022 तक दोगुनी करने के लिए किसानों को मार्कीट से जोड़कर सरकार ने जोखिम फ्री बनाया है। हरियाणा देश का पहला राज्य है जिसका किसान या तो प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में कवर है या 12 हजार प्रति एकड़ की मुआवजा योजना में कवर है। 

उन्होंने कहा कि अपने को किसानों का हितैषी कहने वाले भूपेंद्र हुड्डा स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट सहित अन्य सुविधाएं देने की बात कहते रहे, जबकि राज्य सरकार ने किसानों के लिए वास्तव में इसे करके दिखाया है। हरियाणा सरकार हर खेत को पानी देने के संकल्प को पूरा करने में जुटी है। उन्होंने कहा कि हरियाणा के 3 तरफ दिल्ली है। हमारे किसान 2 से 3 घंटे में अपने ताजा उत्पाद दिल्ली के हर घर तक पहुंचा सकते हैं। एक औसत के अनुसार दिल्ली की 4 करोड़ की आबादी सालाना 36 हजार करोड़ रुपए सामान्य किसानों के उत्पादों पर खर्च करती है। इस लिहाज से हमारा 26 हजार करोड़ रुपए प्रति साल किसानों के पास आना चाहिए। इससे किसानों की आय में बढ़ौतरी होगी। उन्होंने कहा कि हम ऐसी व्यवस्था करना चाहते हैं कि किसानों को प्रति एकड़ प्रति वर्ष 1 लाख की आय हो। 

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार द्वारा पिछली सरकारों के समय के फसल खराबा मुआवजा के लिए भी 343 करोड़ की राशि किसानों को प्रदान की है। भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेशाध्यक्ष समय सिंह भाटी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में देश-प्रदेश की सरकारें दिन-रात जनहित में कार्य कर रही हैं। थानेसर विधायक सुभाष सुधा ने कहा कि राज्य सरकार ने किसानों को रिकार्डतोड़ मुआवजा दिया और किसानों की भूमि के स्वास्थ्य की जांच करने के लिए हैल्थ सॉयल कार्ड जारी करने की योजना शुरू की। सरकार ने दक्षिण हरियाणा के साथ आखिरी टेल तक पानी पहुंचाने का काम किया। उन्होंने कुरुक्षेत्र में फूड प्रोसैसिंग यूनिट लगाने की मांग की। भाजपा किसान मोर्चा के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य एवं पूर्व मंत्री बलबीर सैनी ने कहा कि किसानों की आय दोगुनी करने के लिए प्रधानमंत्री 7 ङ्क्षबदुओं के तहत कार्य कर रहे हैं। 

प्रदेश के किसानों को एक साल के लिए ई-ट्रेडिंग से मिलेगी छूट
धनखड़ ने कहा कि प्रदेश के किसानों को ई-ट्रेडिंग के जरिए फसल बेचने के लिए एक साल की छूट सरकार की तरफ से दी जाएगी। इस प्रस्ताव को मुख्यमंत्री मनोहर लाल के समक्ष रखा जाएगा और मुख्यमंत्री की मोहर लगने के बाद फैसले को अमलीजामा पहना दिया जाएगा। धनखड़ कुरुक्षेत्र नई अनाज मंडी में किसान जमावड़ा कार्यक्रम उपरांत आढ़ती एसोसिएशन के सदस्य अंग्रेज सिंह की दुकान पर विधायक सुभाष सुधा के अनुरोध पर व्यापारियों से मिलने और समस्याओं का समाधान करने पहुंचे। अनाजमंडी में जिले के व्यापारियों ने कृषि मंत्री के समक्ष ई-ट्रेडिंग में आ रही दिक्कतों को रखा और कहा कि जब तक सभी व्यापारी इस प्रणाली से पूरी तरह रू-ब-रू नहीं हो जाते, तब तक ई-ट्रेडिंग की बजाय पुरानी प्रणाली के आधार पर मंडियों में फसल बेचने और खरीदने की छूट दी जाए। व्यापारियों की बात सुनने और मौके पर विधायक सुभाष सुधा की सिफारिश के बाद धनखड़ ने कहा कि एक साल तक किसान ई-ट्रेडिंग या सीधा व्यापारियों को अपनी फसल बेच सकेगा लेकिन इसका अंतिम फैसला मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अनुमति के बाद होगा। एक साल के बाद सभी को ई-ट्रेडिंग के जरिए ही फसलों की खरीद और बेचने का काम किया जाएगा। 
 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You