चिंतन शिविर से हरियाणा के नवनिर्माण के लिए मिली नई ऊर्जा: CM खट्टर

  • चिंतन शिविर से हरियाणा के नवनिर्माण के लिए मिली नई ऊर्जा: CM खट्टर
You Are HereHaryana
Sunday, December 17, 2017-5:47 PM

चंडीगढ़(चंद्रशेखर धरणी): हरियाणा सरकार का टिंबर ट्रेल में चल रहा तीन दिवसीय चिंतन शिविर खत्म हो गया है। सीएम खट्टर ने अपने पूरे मंत्रिमंडल के साथ टिबंर ट्रेल में सरकार के 3 वर्ष के कार्यकाल के लेखा -जोखा और अगले 2 वर्षों के निर्धारित लक्ष्यों के बारे में चर्चा की। शि‍विर के समापन के बाद मुख्‍यमंत्री मनोहरलाल ने कहा कि इस शिविर से वरिष्‍ठ अधिकारियों में टीम भावना कायम हुई है। वे अब एक टीम के रूप में राज्‍य के विकास के जिए काम करेंगे। इसके साथ ही हर अधिकारी राज्‍य में एक ब्‍लाक को अपनाएगा और उसका समग्र विकास करेगा। मुख्‍यमंत्री ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि यह हरियाणा सरकार का पहला चिंतन शिविर था और यह अभूतपूर्व आयोजन रहा। इसके परिणाम उत्साहजनक रहे हैं। इससे हरियाणा के नवनिर्माण के लिए नई ऊर्जा मिली है। अब राज्य के अंतिम व्यक्ति तक विकास की धारा पहुंचाने और उसके जीवन में खुशियां भरने के लिए सभी वरिष्ठ अधिकारी एक टीम के रूप में काम करेंगे।

अगले साल संत कबीर दास जयंती हर जिले में मनाई जाएगी
सीएम ने कहा कि इस चिंतन शिविर में राजनीतिक लोगाें, अधिकारियों और अपने-अपने क्षेत्र में उपलब्धि हासिल करने के वाले युवाओं ने भागीदारी की। उन्‍होंने राज्‍य के विकास के लिए अपने सुझाव दिए। इन पर गौर कर योजनाएं बनाई जा रही हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि अगले साल जून में संत कबीर दास जयंती को राज्य के प्रत्येक जिले में मनाने का फैसला किया गया है। उन्‍होंने कहा कि शिविर के प्रथम सत्र में हमने एक फिल्म देखी। उसमें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सिविल सेवा अधिकारियों को एक मूलमंत्र दिया था। इसे सभी मंत्रियों और अधिकारियों ने आत्‍मसात किया। अधिकारियों से कहा गया कि वे मनन करें कि कहीं पटरी से तो नहीं उतर गए हैं। अगर हुए हैं तो उस पर चिंतन करें और खुद को ट्रैक पर लेकर आएं।

सरकार ने हरियाणा में क्रांतिकारी बदलाव किए
मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा में उनकी सरकार ने क्रांतिकारी बदलाव किए हैं और अफसरों को बिना दबाव के कार्य करने की छूट दी गई है। पंचयतों को पढ़ा-लिखा बनाया गया है। उन्‍होंने कहा कि वर्तमान सरकार की कार्य प्रणाली एवं शैली तथा पारदर्शिता पर लोगों का विश्‍वास बढ़ा है। इसका बड़ा उदाहरण कि पिछले महीने गुरूग्राम में हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण द्वारा एक मल्टी नेशनल कंपनी को नौ एकड़ जमीन 850 करोड़ रुपए में बेचना। इस मामले में कंपनी के किसी अधिकारी को मुझसे मिलने की जरूरत नहीं पड़ी।

तबादलों में समाप्त हुआ भ्रष्टाचार
इसके साथ ही सीएम ने कहा कि अाज तबादलाें में भ्रष्‍टाचार समाप्‍त हो गया है। आज कोई भी व्यक्ति हरियाणा में किसी अध्यापक का ट्रांसफर नहीं करवा सकता। हरियाणा का हर पंच, सरपंच, ब्लाक समिति का हर सदस्य आठवीं या दसवीं पास है।
 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन