हंगामेदार रहा विधानसभा सत्र का पहला दिन, जानिए क्या-क्या थे मुद्दे

  • हंगामेदार रहा विधानसभा सत्र का पहला दिन, जानिए क्या-क्या थे मुद्दे
You Are HereTop News
Monday, October 23, 2017-5:49 PM

चंडीगढ़(चंद्रशेखर धरनी): हरियाणा विधानसभा का शीतकालीन सत्र सोमवार से शुरू हो गया। तीन दिवसीय सत्र 2 बजे से लेकर 5 बजे तक चला। 3 घंटे चले सत्र में पहले ही दिन विधानसभा में कई मुद्दों को लेकर विपक्ष ने जोरदार हंगामा किया। दादुपुर नलवी नहर को डीनोटिफाई करने और पंचकूला हिंसा में मारे गए लोगों के लिए शोक प्रस्ताव पारित करने को लेकर विपक्ष ने जोरदार हंगामा किया जिसके बाद कांग्रेसी विधायकों को मार्शेल की मदद से बाहर निकाल दिया गया। इससे पहले कांग्रेस सहित विपक्ष के सभी दलों की विधानसभा के सत्र की अवधि बढ़ाने की मांग को बिजनेस एडवाइजरी कमेटी की बैठक में खारिज कर दिया गया। बैठक में फैसला लिया गया कि सत्र तीन दिनों तक ही चलेगा। विधानसभा सत्र की बैठक कल शाम 7 बजे तक चलेगी। कल विधानसभा सत्र की डबल बैठक होगी। 

दादुरपुर नलवी मामले पर विपक्ष ने किया हंगामा
विधानसभा सत्र के दौरान कांग्रेस विधायक दल की नेता किरण चौधरी अौर पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा सहित सभी विपक्ष नेताअोें ने सदन में हंगामा किया। दादुपुर नलवी नहर को डीनोटिफाई करने पर विपक्ष ने जोरदार हंगामा किया। इसके साथ ही पंचकूला हिंसा में मारे गए 40 निर्दोष लोगों के लिए शोक व्यक्त को लेकर हंगामा किया गया। उल्लेखनीय है कि राम रहीम के 15 अगस्त को रेप केस में दोषी करार होते ही पंचकूला में डेरा प्रेमियों ने काफी तोड़फोड़ अौर आगजनी की थी। जिसमें करीब 40 लोगं की मौत अौर सैंकड़ों लोग घायल हुए थे।

एक साथ पहुंचे अभय व अजय चौटाला
विधानसभा सत्र में अभय चौटाला अपने भाई अजय चौटाला के साथ सदन में पहुंचे थे। अजय चौटाला शिक्षक भर्ती मामले में पैरोल पर आए हुए हैं। अजय चौटाला शिक्षक भर्ती घोटाले में 10 साल की सजा होने के बाद आजकल 3 सप्ताह की पैरोल पर आए हैं।

सुरजेवाला ने भी जताई नाराजगी
कांग्रेसी विधायकों को सदन से बाहर निकाले जाने पर रणदीप सुरजेवाला ने भारी आईपति जताई अौर कहा कि आज विधानसभा सत्र में लोकतंत्र की हत्या हुई। उन्होंने कहा कि मनोहरलाल सरकार किसानों के दमन पर सी एम कोठी में लडडू बांट रही है।

कांग्रेस ने दादूपुर-नलवी नहर मुद्दे पर काम रोको प्रस्ताव दिया
पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र हुड्डा के निवास पर उनके समर्थक विधायकों ने सरकार के खिलाफ रणनीति तैयार की। बैठक में विधायक गीता भुक्कल, डा. रघुबीर सिंह कादियान, कुलदीप शर्मा, करण दलाल, उदयभान, शकुंतला खटक, आनंद सिंह डांगी, श्रीकृष्ण हुड्डा, जयतीर्थ दहिया, जगबीर मलिक, जयबीर वाल्मीकि मौजूद थे। बैठक के बाद हुड्डा ने बताया कि सत्र में कांग्रेस 3 काम रोको प्रस्ताव दिए हैं। इनमें दादूपुर-नलवी नहर, कानून व्यवस्था की खराब स्थिति, बाजरा व धान की खरीद शामिल है, वहीं कांग्रेस ने कई मुद्दों पर ध्यानाकर्षण प्रस्ताव भी दिए हैं। इनमें मुरथल टोल टैक्स, डेंगू तथा चिकनगुनिया से हुई मौतें, शिक्षा की लचर हालत शामिल है। हुड्डा ने बताया कि सत्र में सरकार के भ्रष्टाचार की पोल भी खोली जाएगी। उन्होंने कहा कि सरकार से पूछा जाएगा कि कैसे एक ही कंपनी को नियमों के विरुद्ध हाइडल प्रोजैक्ट दे दिए। हुड्डा ने यह भी कहा कि डेरामुखी प्रकरण की हाईकोर्ट के सिटिंग जज से जांच करवाने की मांग भी सत्र में उठाई जाएगी।

सत्र के लिए 5 विधेयक स्वीकृत
विधानसभा सत्र के लिए 5 विधेयक फिलहाल स्वीकृत किए गए हैं। 2 से 3 विधेयक और आने की संभावना है। जो 5 विधेयक स्वीकृत हैं उनमें से 3 शहरी स्थानीय निकाय मंत्री कविता जैन द्वारा प्रस्तावित हैं जिनमें हरियाणा नगर निगम (द्वितीय संशोधन) विधेयक 2017, हरियाणा नगरपालिका (द्वितीय संशोधन) विधेयक 2017, हरियाणा नगर पालिका क्षेत्रों में अपूर्ण नागरिक सुख-सुविधायों तथा अव संरचना का प्रबंधन (विशेष उपबंध) (द्वितीय संशोधन) विधेयक 2017 शामिल हैं। 2 अन्य विधेयकों में राजस्व एवं आपदा प्रबंधन मंत्री द्वारा भारतीय स्टाम्प (द्वितीय संशोधन) विधेयक 2017 व औद्योगिक प्रशिक्षण मंत्री द्वारा हरियाणा विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय (संशोधन) विधेयक 2017 शामिल हैं।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You