डेरा के पूर्व साधु ने सर्च अभियान को बताया ढकोसला, किया एक अौर खुलासा

  • डेरा के पूर्व साधु ने सर्च अभियान को बताया ढकोसला, किया एक अौर खुलासा
You Are HereHaryana
Thursday, September 7, 2017-1:16 PM

फतेहाबाद(रमेश भट्ट): डेरा सच्चा सौदा सिरसा में सरकार की अोर से चलाए जाने वाले सर्च अभियान को लेकर भले ही पूरे देश की नजरे टिकी हों लेकिन डेरा के पूर्व साधु रहे हंसराज ने सर्च अभियान को मात्र एक ढकोसला करार दिया है। हंसराज का कहना है कि 15 दिन बीत जाने के बाद डेरा में सर्च अभियान चलाने का कोई फायदा नहीं है क्योंकि डेरे के कांरिदों ने सारे सबूत मिटा दिए हैं। डेरा के चोर दरवाजों से सारा संदिग्ध सामान नोहर अौर भादरा के रास्ते यहां से गायब किया जा चुका है। डेरा में अब इमारतें ही बची हुई हैं। 

हंसराज ने बताया कि सरकार की ओर से तुंरत इस मामले में एक्शन लेना चाहिए था, ताकि डेरे की सारी हकीकत सब के सामने आ जाती। हंसराज ने बताया कि कोर्ट के फैसले से पहले डेरे ने लड़के और लड़कियों के कॉलेज की इमारत को बदल दिया था। लड़कों के कॉलेज को लड़कियों और लड़कियों के कॉलेज की इमारत को लड़कों के कॉलेज मे शिफ्ट कर दिया गया है। ताकि लड़कियों के कॉलेज का दरवाजा जो कि बाबा की गुफा में खुलता था उसके राज को छुपाया जा सके।

हंसराज ने बताया कि ज्यादातर नेता बाबा के पैरों में पड़ते थे। राम रहीम ने उनकी पूरी रिर्काडिंग करता था ताकि समय के अनुसार उसका उपयोग किया जा सके। हंसराज ने बताया कि डेेरे में जगह जगह पर कैमरे लगे हुए थे और बाबा खुफिया कैमरे का भी प्रयोग करता था।
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You