सावधान! इस शहर में स्वाइन फ्लू ने दी दस्तक

  • सावधान! इस शहर में स्वाइन फ्लू ने दी दस्तक
You Are HereHaryana
Sunday, August 13, 2017-11:00 AM

फरीदाबाद : फरीदाबाद के बीके अस्पताल में सरकारी आदेशों का किस कदर मजाक उड़ाया जा रहा है इसकी बानगी स्वाइन फ्लू वार्ड को देखकर ही लगाई जा सकती है। जहां वार्ड के नाम पर महज 3 बेड रख दिए गए हैं, इतना ही नहीं अस्पताल के मेडिकल स्टोर में टेमी फ्लू दवा का स्टॉक नदारद है। ऐसे में यहां आने वाले एच1एन1 (स्वाइन फ्लू) के संदिग्ध रोगियों को क्या बेहतर इलाज मिलेगा इसकी कोई गारंटी नहीं है। पंजाब केसरी संवाददाता ने शनिवार को जब फरीदाबाद के बीके अस्पताल का दौरा किया तो यह हाल देखने को मिला।

लोगों को टैमी फ्लू का सेवन कराने के दिए निर्देश
उल्लेखनीय है कि हाल ही में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग ने आदेश जारी कर सभी जिलों के सरकारी जिला अस्पतालों में स्वाइन फ्लू वोर्ड बनाने, स्टॉक में टैमी फ्लू दवा रखने, पीड़ित रोगी और उसके परिजनों व आस-पड़ोस के लोगों को टैमी फ्लू का सेवन कराने के निर्देश दिए थे। वहीं विभाग ने डग वेयर हाउस गुडग़ांव से टैमी फ्लू दवा का स्टॉक मंगवाया है। फरीदाबाद के बीके अस्पताल में शुक्रवार रात चिकित्सकों ने झारखंड निवासी 18 वर्षीय युवक अमित गांजु पुत्र बिलखा गांजु को स्वाइन फ्लू का संदिग्ध मामला मानते हुए भर्ती किया है। हालांकि अभी तक चिकित्सालय प्रशासन ने रोगी में स्वाइन फ्लू की पुष्टी नहीं की है। इस संबंध में चिकित्सकों कहना है कि रोगी का स्वाब (थूक) को जांच के लिए नेशनल सेंटर डिजिज कंटोल दिल्ली भेजा गया है, रिपोर्ट आने के बाद ही स्वाइन फ्लू की सही स्थिति का पता चल सकेगा।

वार्ड में ढूढ़ते रहे मास्क और गलब्स 
स्वाइन फ्लू वार्ड में निरीक्षण के दौरान डॉक्टर स्वयं मास्क और हैंड गलब्स ढूढ़ते रहे। कुछ देर बाद एक कोने रखे बॉक्स में कुछ हैंड गलब्स और मास्क मिल गए, लेकिन डाक्टर व अन्य स्टॉफ ने मुंह पर मास्क नहीं लगाया हुआ था।

अब तक 13 रोगियों में स्वाइन फ्लू पॉजीटिव 
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों पर नजर डालें तो इस साल अबतक करीब 13 से अधिक रोगियों में एच1एन1 (स्वाइन फ्लू) वायरस एक्टीव पाया गया और स्वाब की जांच में स्वाइन फ्लू की पुष्टी हुई। वहीं चिकित्सा विभाग के अधिकारी किसी भी तरह की ङ्क्षचता की बात नहीं होना बता रहे हैं। फिलहाल शुक्रवार रात को सरकारी बीके अस्पताल पहुंचे संदिग्ध रोगी का पहला मामला है।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You