BJP नेता के भाई की गाड़ी लूट मामला: 24 घंटे के भीतर आरोपी काबू

  • BJP नेता के भाई की गाड़ी लूट मामला: 24 घंटे के भीतर आरोपी काबू
You Are HereHaryana
Saturday, August 19, 2017-2:04 PM

टोहाना (सुशील सिंगला):भाजपा नेता जाखल सरपंच के भाई की गाड़ी लूट मामले में पुलिस ने 24 घंटे के भीतर आरोपी कार चालक को काबू कर लिया है। मामला भाजपा नेता से जुड़ा था, इसलिए पुलिस ने तुरंत कार्रवाई करते हुए आरोपी को गिरफ्तार कर मामले की जांच शुरू कर दी तथा अन्य आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी की  बात कही है। पुलिस आरोपी को आज न्यायलय में पेश कर रिमांड पर लेगी तथा उसके अन्य साथियों बारे सुराग जुटाने का काम करेगी। जानकारी के अनुसार कार मालिक का मोबाइल गाड़ी में रह जाने से उसकी लोकेशन के चलते आरोपी को काबू किया गया है। लेकिन इतने व्यस्त चौक पर ऐसी वारदात का हो जाना पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठाता है जबकि पुलिस का एक होमगार्ड वहां उस वक्त तैनात रहता है। 

डी.एस.पी. ने बताया कि आरोपी आदिल पुत्र यामीन को आज न्यायालय में पेश किया जाएगा जिसके बाद उसका रिमांड लिया जाएगा, ताकि अन्य आरोपियों की भी शिनाख्त की जा सके। उन्होंने बताया कि आरोपी की जांच के बाद पता चलेगा कि इसने पहले कोई घटना को अंजाम दिया है या नहीं। डी.एस.पी. ने बताया कि आरोपी इस प्रकार से गाड़ी लूटकर फिर उसे बेच देते थे, जिसके बाद जो राशि आती थी उसे बांट लेते थे। ताकि जल्द रुपए कमाए जा सकें। आरोपी से रिमांड के दौरान पूछताछ के बाद खुलासे हो सकेंगे। उन्होंने बताया कि पूछताछ में पता चलेगा कि ये कहीं कोई अंतर्राजीय गिरोह तो नहीं है। 

गौरतलब है कि जाखल के सरपंच भाजपा नेता सुरेंद्र मित्तल के भाई अशोक मित्तल ने बताया था कि जाखल में उनकी बर्तन भंडार के नाम से दुकान है। जिसमें वे 40 वर्षो से काम कर रहे है। उसने बताया कि यामीन खान नामक व्यक्ति उनकी दुकान से बर्तन लेकर जाता था। उसने कुछ समय पहले ही नई आई-20 कार ली थी जिसकी रजिस्ट्रेशन कापी लेने के लिए वो यहां आया था। उस दिन वह यामीन के बेटे आदिल को साथ में लेकर आया तथा ड्राइवर को गाड़ी में छोड़ आरसी लेने गया था, जिसके बाद वह बाहर आया तो देखा कि गाड़ी वहां नहीं थी। जिसके बाद उसने किसी अन्य व्यक्ति से मोबाइल लेकर स्वंय के नंबर पर फोन मिलाया जो उसके ने उठा लिया। उसने कहा कि वह अपने निजि काम से चौक पर गया है जिसके बाद उसने जाकर देखा तो वहां न तो कार मिली न ही ड्राइवर मिला। उक्त जगह पर गाडी के टूटे हुए शीशे पड़े थे, जिसके बाद उसने वहां खड़े लोगों से पूछा तो पता चला था कि 4-5 लोग मारूति स्विफ्ट गाड़ी में से उतरे जिनमें से एक ने पगड़ी डाली हुई थी और एक ने मुंह ढक रखा था बाकि के हाथों में लोहे की रोड व तलवार वगैरह थी, जिन्होंने गाड़ी पर हमला किया तथा ड्राईवर को साथ ले गए थे। 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You