प्रद्युम्न हत्याकांड के बाद, स्कूल के बाथरूम में 9 साल की मासूम से रेप की कोशिश

You Are HereHaryana
Thursday, September 21, 2017-4:53 PM

पानीपत: गुरुग्राम के रेयान स्कूल में 7 साल के प्रद्युम्न की हत्या के बाद भले ही शिक्षा विभाग स्कूलों में कड़ी सुरक्षा बनाने के निर्देश दे रहा हो लेकिन इन बातों पर कितना अमल किया जा रहा है इसका अंदाजा आए दिन हो रही घटनाअों से लगाया जा सकता है। अभी गुरुग्राम का केस सुलझा भी नहीं कि पानीपत के एक स्कूल में 9 साल की बच्ची से छेड़छाड़ अौर रेप का प्रयास किया गया। बताया जा रहा है कि यहां के ‘द मिलेनियम’ स्कूल में स्वीपर ने ही वारदात को अंजाम दिया। परिजनों की आरोप है कि स्कूल ने मैनेजमेंट ने केस को कई घंटों तक दबाए रखा। पुलिस ने अज्ञात शख्स और स्कूल मैनेजमेंट के खिलाफ केस दर्ज किया है। 
PunjabKesari
चौथी क्लास में पड़ती है पीड़िता
पुलिस के अनुसार मॉडल टाउन एरिया मे रहने वाली बच्ची मिलेनियम स्कूल में चौथी क्लास की स्टूडेंट है। बुधवार को उसका पेपर था। बच्ची के पिता ने सुबह करीब 7.40 बजे उसे स्कूल छोड़ा। उनके पास करीब 9.30 बजे स्कूल से फोन आया कि आपकी बेटी रो रही है। परिवार वाले एग्जाम खत्म होने से पहले ही उसे घर ले गए। जब बच्ची की मां उसके कपड़े बदलने लगी तो गर्दन और कमर पर खरोंच के निशान दिखे। पूछने पर बच्ची ने रोते हुए आपबीती बताई।

हरी टी-शर्ट वाले शख्स ने की छेड़छाड़
डीएसपी विद्यावती ने बताया, ''बच्ची ने बताया कि वह करीब 8 बजे टॉयलेट गई थी। तभी हरी टी-शर्ट पहने एक शख्स वहां आया और उसका मुंह दबाकर छेड़छाड़ की। बच्ची को आरोपी ने किसी को कुछ बताने पर जान से मारने की धमकी दी। विक्टिम की कमर और कंधे पर खरोंच के निशान भी हैं। आरोपी ने बच्ची का गला भी दबाया। टॉयलेट से बच्ची रोती हुई बाहर निकली थी। वह डरी हुई थी। इसके बाद टीचर्स ने फैमिली को जानकारी दी।

PunjabKesariपुलिस ने की स्कूल के स्वीपरों से पूछताछ
सूचना के बाद पुलिस ने आधी रात को ही स्कूल खुलवाकर पांच स्वीपरों से पूछताछ की। एक स्वीपर पर शक जताया जा रहा है। पुलिस ने स्कूल के सी.सी.टी.वी. कैमरों की जांच का लेकिन उन्हें बाथरूम के पास कोई कैमरा नहीं मिला। अब पुलिस हरे रंग की टी-शर्ट पहने हुए लोगों की पहचान करने में जुटी है।प्रिसिंपल विनीता तोमर को भी रात को स्कूल में बुलाया गया, लेकिन वे थोड़ी देर में ही निकल गईं।

घटना के बाद से सहमी है बच्ची
घटना का पता लगने के बाद पीड़िता के परिजन बुधवार रात को महिला थाने शिकायत दर्ज कराने पहुंचे तब बच्ची उनके साथ नहीं थी। पुलिस ने बच्ची को बुलाकर उसका मेडिकल कराया। इसके बाद चाइल्ड प्रोटेक्शन ऑफिसर निधि गुप्ता ने हॉस्पिटल पहुंचकर पेरेंट्स से बात की। बताया जा रहा है कि वारदात के बाद से बच्ची सहमी हुई है। उसने पुलिस से भी ठीक से बातचीत नहीं की। गुरुवार को पुलिस उसकी काउंसिलिंग करवाकर फिर से बात करेगी। इसके बाद मजिस्ट्रेट के सामने बयान दर्ज करवाए जाएंगे।

उसी स्कूल में पढ़ाती है पीड़िता की मौसी
बच्ची की मौसी उसी स्कूल में पढ़ाती है। कहा जा रहा है कि जब बच्ची रोती हुई बाथरूम से बाहर आई तो उसने टीचर को सारी बात बताई थी। लेकिन स्कूल ने कोई एक्शन नहीं लिया, सिर्फ उसके रोने की बात पेरेंट्स को बताई। स्कूल मैनेजमेंट गुरुवार को पुलिस के पास बयान दर्ज कराएगा।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You