एसिड अटैक मामले में नया मोड़, जिंदा है युवती, पहचान बदलने के लिए रची साजिश

  • एसिड अटैक मामले में नया मोड़, जिंदा है युवती, पहचान बदलने के लिए रची साजिश
You Are HereHaryana
Friday, September 8, 2017-1:45 PM

पानीपत(अनिल कुमार): एसिड डालकर युवती की हत्या करने के मामले में नया मोड़ आ गया। गत दोपहर मृतक युवती गांव बराना निवासी ज्योति की पहचान पर संशय होने लगा। मामले में संलिप्त आजाद नगर निवासी अन्य युवती सिमरन के पिता आलोक दुबे ने गुरुवार को युवती की पहचान छिपाने के लिए चेहरा नष्ट करने की ओर निशाना साधते हुए दावा किया कि मृतक युवती ज्योति नहीं, बल्कि उसकी पुत्री सिमरन थी और आरोपित कृष्ण ने जानबूझकर उसके कपड़े बदलकर उसे ज्योति के कपड़े पहना दिए थे जिससे कि लोगों को लगे कि ज्योति की मौत हो चुकी है। सिमरन आरोपित कृष्ण के साथ ही फरार है। 
PunjabKesari
वहीं जहां पुलिस पहले इस मामले में मृतक युवती को गांव बराना निवासी ज्योति मानकर चल रही थी बाद में वही पुलिस दूबे के इस दावे के बाद एक नए पेंच में फंसती हुई दिखाई दे रही है। हालांकि गत देर शाम तक ही पुलिस ने इस शातिराना हत्याकांड को अंजाम देने वाले आरोपित युवक कृष्ण निवासी गांव अटावला व वारदात में संलिप्त कथित मृतक युवती ज्योति को शिमला से गिरफ्तार करने की बात का खुलासा किया। पुलिस ने गत दिवस आरोपित युवती ज्योति को अदालत में पेश कर 3 दिनों के रिमांड पर लिया जबकि इस वारदात को अंजाम देने व दुनिया की आंखों में धूल झोंक युवतियों की पहचान बदलने वाले मुख्यारोपी कृष्ण को शुक्रवार को पुलिस द्वारा अदालत में पेश किया जाएगा।
PunjabKesari
बेहोश कर उतारा मौत के घाट 
सी.आई.ए. 3 प्रभारी सब-इंस्पैक्टर प्रवीन कुमार द्वारा दी जानकारी अनुसार पुलिस आरोपित युवक कृष्ण व अन्य संदिग्धों के फोन लोकेशन, कॉल डिटेल आदि पर भी कड़ी नजरें गड़ाए हुए थी।  पुलिस ने मामले की जांच-पड़ताल के आधार पर गुरुवार को शिमला, हिमाचल प्रदेश में दबिश दी और आरोपित अटावला निवासी कृष्ण व गांव बराना निवासी ज्योति को गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों ने प्रारंभिक पूछताछ के दौरान बताया कि उन्होंने पहले तो कोल्ड ड्रिंक में नींद की गोलियां मिलाकर सिमरन को पिलाई और फिर बाद में उसके बेहोश हो जाने पर गला दबाकर मौत के घाट उतार दिया।  इसके बाद आरोपियों ने युवतियों की पहचान बदलने का ऐसा प्लान बनाया कि जिसे खुद मृतका के परिजन तक भी नहीं भांप पाए। फिलहाल पुलिस ने पकड़े गए आरोपित कृष्ण व ज्योति से जुड़ी किसी भी प्रकार की खास जानकारी देने से इंकार कर दिया। अधिकारियों का दावा है कि पुलिस रिमांड के दौरान आरोपित हत्याकांड की इस पूरी वारदात का खुलासा कर सकता है। इसके साथ-साथ इस हत्याकांड को अंजाम देने वाले मुख्य आरोपित कृष्ण के पकड़े जाने के बाद मंदिर में कमरा खोलने से लेकर रेंट पर देने वालों, खुले में एसिड बेचने वाले आरोपित दुकानदार तक पर जल्द ही प्रशासनिक अधिकारियों की गाज पड़ सकती है।
 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You