कई सालों से चल रहे गोरखधंधे का भंडाफोड़, लड़का होने की दवाई देने वाला दंपत्ति काबू(Video)

You Are HereHaryana
Thursday, January 11, 2018-5:52 PM

हांसी(संदीप सैनी): हांसी में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने आर्य नगर स्थित घर पर छापा मारकर बुजुर्ग दंपति को गिरफ्तार किया है। दंपति नियमों के खिलाफ शर्तिया लड़का होने की दवाई देता था। पुलिस ने टीम की शिकायत के आधार पर पीसीपीएनडीटी एक्ट के तहत मामला दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।
PunjabKesari
हिसार ड्रग्स कंट्रोलर अधिकारी सुरेश चंद चौधरी ने बताया कि उन्हें गुप्त सूचना मिली थी कि हांसी के आर्यनगर स्थित एक घर में बुजुर्ग दंपत्ति लड़ा होने की दवाई देते थे। सूचना के बाद जिला उपायुक्त व सीएमअो के आदेश डिप्टी सीएमअो तेजपाल शर्मा के नेतृत्व में टीम का गठन कर एक महिला को नकली ग्राहक बनाकर दंपत्ति के पास बेजा। जहां बुजुर्ग दंपत्ति ने महिला से एक हजार रुपए लेकर शर्तिया लड़का होने का दावा करते हुए दवाई की कई पुड़िया दी अौर सुबह शाम सुबह खाली पेट गाय के दूध के साथ लेने को कहा। 

दवाई लेने के बाद महिला ने फोन से टीम को सूचित किया। जिसके बाद टीम ने घर पर दबिश देकर बुजुर्ग दंपत्ति से महिला द्वारा दिए पांच-पांच सौ रूपए के दो नोट व दवाई की पुड़ियां बरामद की। साथ ही बताया कि यह गोरखधंधा पिछले कई वर्षों से चल रहा था। दंपत्ति अपनी सास से सीखे नुस्खे के आधार पर गर्भवती महिलाअों को लड़का होने की दवा देने का काम करते थे। महिला द्वारा दी दवाई की पुड़ियों को जांच के लिए लैब में भेजा गया है। रिपोर्ट आने के बाद ही पता लग पाएगा कि दवाई के नाम पर महिलाअों को क्या चीज दी जाती थी। डॉक्टर अनिल आहूजा को टीम का नोडल अधिकारी बनाया गया था। 
PunjabKesari
बुजुर्ग महिला उर्मिला ने बताया कि उसकी सास नर्स थी। उसने ये नुस्खा अपनी सास से सिखा है। वह शहर के एक आयुर्वैदिक स्टोर से यह दवाई 20 रुपए में लेकर आती थी अौर ग्राहक अपनी मर्जी से जो रुपए देते थे वह ले लेती थी। वह दवाई की एवज में किसी से कोई रुपए नहीं मांगती थी। 
 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन