नौकरी के नाम पर ठगे साढ़े 4 लाख

  • नौकरी के नाम पर ठगे साढ़े 4 लाख
You Are HereFatehabad
Wednesday, January 10, 2018-12:52 PM

फतेहाबाद(ब्यूरो):गांव शहीदांवाली निवासी सुरेश कुमार नामक व्यक्ति पार्ट टाइम नौकरी के नाम पर साढ़े 4 लाख रुपए गंवा बैठा। कम्पनी द्वारा पीड़ित से कंफर्मेशन फीस के तौर पर 1 लाख 50 हजार रुपए और उसके बाद निरीक्षण फीस के नाम पर 3 लाख ऐंठ लिए। पीड़ित को ठगी का पता लगने पर इसकी शिकायत पर शहर फतेहाबाद पुलिस को की। पुलिस ने शिकायत के आधार पर कुंचित अरोड़ा, सत्य प्रकाश शर्मा, कमलजीत व रजत कुमार के खिलाफ  धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। 

शिकायतकर्ता सुरेश कुमार ने बताया कि वह गांव शहीदांवाली का रहने वाला है और हंस मार्कीट में मेरा सेल व टी.एम.टी. का कार्यालय है। मई 2014 में उसने एक समाचार पत्र में वर्टीकल प्लेनैंट सोल्युशन कम्पनी का पार्टटाइम कार्य करने का विज्ञापन देखा। जब उसने कम्पनी के मुख्यालय अम्बाला सिटी में बात की तो उसे आरोपी कुंचित अरोड़ा से मोबाइल पर बात करने को कहा गया। कुंचित अरोड़ा से बात करने पर उसने बताया कि हमारी कम्पनी वर्टीकल प्लेनैंट आई.टी. बी.पी.ओ. सोल्युशन में उसके पिता गुरविन्द्र अरोड़ा, दोस्त सत्यप्रकाश शर्मा दोनों डायरैक्टर व बराबर के हिस्सेदार हैं तथा वह स्वयं एरिया मैनेजर है। 

हमारा काम विदेशों से किताबें मंगवाकर स्कैन करवाकर सी.डी. में डालकर लेना है, जिसे हमें विदेश भेजते हैं। उसके बाद 25 मई 2014 को कुंचित अरोड़ा उसके कार्यालय में आया और नौकरी में साढ़े 4 लाख कमाने का भरोसा दिया तथा कहा कि इसके लिए आपको 1 लाख 50 हजार रुपए कंफर्मेशन फीस व 3 लाख 50 हजार रुपए कार्यालय के निरीक्षण के बाद जमा करवाने होंगे। उसने उसी समय ऑनलाइन ही उक्त कम्पनी के खाते में 1 लाख 50 हजार डाल दिए। कुंचित अरोड़ा ने कहा कि आपको स्कैनर कम्पनी द्वारा उपलब्ध करवाया जाएगी, जिसकी फीस आपको ही अदा करनी होगी। 1 जून 2014 को कम्पनी की तरफ  से एक टे्रनर रजत को उसके कार्यालय में स्कैनर सहित भेजा गया और कार्यालय का निरीक्षण किया गया। 

3 जून 2014 को कुंचित अरोड़ा दोबारा उसके कार्यालय आया और उसे कहा कि आपका प्लान पास हो गया है और आरोपी के मांगने पर उसने 3 लाख रुपए का चैक कम्पनी के नाम काटकर दे दिया। उसके बाद आरोपियों ने उसे लुधियाना कार्यालय में बुलाया और उसे 129 किताबें देकर कहा कि इसे 20 कार्यदिवस में सी.डी. में डालकर हमारे मुख्य कार्यालय में कोरियर से भिजवा देना और उसके बाद हम आपको 4 लाख 50 हजार रुपए का चैक या आपके खाते में पैसे डाल देंगे।

उसने 1 जुलाई 2014 को सी.डी. तैयार कर अम्बाला सिटी मुख्य कार्यालय में भिजवा दी। कार्यालय बंद होने के कारण यह सी.डी. वापस उसके पास आ गई। छानबीन करने पर उसे पता चला कि आरोपी लोगों से धोखाधड़ी कर रुपए लेकर गायब हो गए हैं और झूठी वैबसाइट व आई.एस.ओ. सर्टीफिकेट देकर उससे साढ़े 4 लाख ठग लिए। पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि कम्पनी मालिक सहित चारों आरोपियों पर धारा 406, 420 व 34 आई.पी.सी. के तहत अभियोग दर्ज कर शहर पुलिस ने आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है।
 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन